इन कपल्स की कहानी पढ़ने के बाद, आप भी आज से ही जाने लगेंगे जिम

यह कहानी हैं राजस्थान के कपल 40 साल के आदित्य शर्मा और उनकी पत्नी गायत्री की, जो एक मारवाड़ी परिवार से ताल्लुक रखते हैं। उनका वजन 72 किलो था और उनकी पत्नी गायत्री का वजन 62 किलो, जिसके बाद उन्होंने अपनी काया पलटने का वादा किया। इसके बाद उन दोनों ने एक साथ अपना फिटनेस का सफर शुरू किया। हालांकि उनका ये सफर उतना आसान नहीं रहा। शुरुआत में उन्हें काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा। वजन कम करने के लिए एक्सरसाइज करना काफी मुश्किल काम था। ये कपल नाश्ते में पनीर और लंच में सोया चाप खाते थे। डिनर के लिए पनीर और चावल की डाइट फाइनल की गई थी। इसमे इनके परिवार वालों ने भी इनका पूरा समर्थन किया लेकिन उनकी पत्नी के परिवार वालों ने उनका साथ नहीं दिया। उनके परिवार को भी मनाने की कोशिश की गई लेकिन फिर भी परिवार समर्थन में नहीं आया। लेकिन गायत्री अपने पति को मोटिवेट भी करती रहीं और खुद भी उनके साथ वर्कआउट करती थी |आखिर अंत में उनकी महनत रंग लाई और गायत्री ने अपना वजन 62 से 52 किलो और आदित्य शर्मा ने 72 से 52 किलो तक वजन कम किया और उनका नया लुक सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रहा हैं|

Tags:

  • Show Comments (0)

Your email address will not be published. Required fields are marked *

comment *

  • name *

  • email *

  • website *

You May Also Like

जानिए Apple Tea के चमत्कारी फायदे, वजन से लेकर शूगर तक रहेगा कंट्रोल

आज के टाइम में हमारा फिट रहना और अच्छा खान पान अपनी डाइट में ...

स्टडी से हुआ खुलासा : हॉरर फिल्म देखने के भी होते हैं कमाल के फायदे, जानिए कैसे..

फिल्मों को लेकर लोगों के अलग अलग इंटरेस्ट होते हैं, वहीं किसी को रोमांटिक ...

this-potato-eating-does-not-come-old-age

क्या आप आलू खाकर जवान बनना चाहते हैं !

हर कोई चाहता है कि वह कभी बूढ़ा न हो इसलिए लोग तरह-तरह की ...

Grandmother becomes mother at the of 101 years

101 साल की उम्र में दादी मां बनी मां

जो लोग अब तक ये सोचते थे कि माँ बनने की भी एक उम्र ...

research says singles are more happy than married couple

मैरिड लोगों के मुकाबले सिंगल्स होते है ज्यादा हैप्पी : रिसर्च

आज हमारे बीच अगर कोई सिंगल हो तो लोग अकसर उसका काफी मजाक बनाते ...

only 18 percent kids are eating fruits daily

रिसर्च में हुआ खुलासा सिर्फ 18 प्रतिशत बच्चे ही रोजाना खाते हैं फल!

देश में कक्षा छह से दस के बीच पढ़ने वाले शहरी बच्चों में केवल 18 प्रतिशत ही ...