दुश्मन के गढ़ में भी अभिनंदन थे निडर, पाक की धरती पर मार खाते-खाते भी बोल रहे थे ‘भारत माता की जय’

News

पाकिस्तान के खिलाफ जवाबी कार्रवाई करते हुए इंडियन एयर फोर्स के विंग कमांडर अभिनंदन पाकिस्तानी सीमा में चले गए। पाकिस्तान ने वीडियो डालकर अभिनंदन के पकड़े जाने की बात कही। वीडियो के जरिए ये बताया गया कि अभिनंदन पाकिस्तान के कब्जे में ही है। विंग कमांडर अभिनंदन का वीडियो सोशल मीडिया तेजी से वायरल हो रहा है और देश भर में अभिनंदन को वतन वापस लाने की मांग उठ रही है। हर कोई अभिनंदन की सलामत की दुआ कर रहा है। इसी कड़ी में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कल (शुक्रवार) ने अभिनंदन को पाकिस्तान से रिहा भारत वापस सौंपने के लिए कहा है। वह आज दोपहर 1 बजे तक वतन वापिस आएंगे।

बता दें कि विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान ने पकड़े जाने के बावजूद भी अपनी वीरता और साहस का परिचय दिया। जब उनका विमान पाकिस्तान में गिरा तो उस वक्त भी उन्होंने अपने पराक्रम दिखाकर पाकिस्तानियों को हैरान कर दिया। पाकिस्तानी अखबार डॉन की रिपोर्ट के मुताबिक एलओसी के पास रह रहे सोशल एक्टिविस्ट 58 साल के मोहम्मद रज्जाक चौधरी ने आसमान में धमाके की आवाज सुनी। लेकिन जब वह पास गए तो देखा कि एक एयरक्राफ्ट में आग लगी हुई थी। रज्जाक ने जमीन पर एक पैराशूट उतरते देखा। पैराशूट से अभिनंदन एक तालाब में कूदे और कुछ दस्तावेज और मैप्स निगलने की कोशिश की। रज्जाक के मुताबिक, पैराशूट से उतरा पायलट बिल्कुल सुरक्षित और शांत दिख रहा था।

जानकारी के मुताबिक अभिनंदन ने वहां जमा हुए लोगों से पूछा कि वह भारत में हैं या पाकिस्तान में? जिसके जवाब में एक बच्चे ने चालाकी दिखाते हुए कहा कि वह भारत में ही हैं। पायलट ने इसके बाद भारत माता की जय के नारे लगाए और पूछा कि भारत में वह किस जगह पर हैं। उसी लड़के ने अभिनंदन को बताया कि वह किला में हैं। अभिनंदन के देशप्रेम भरे नारों को कुछ पाकिस्तानी युवा पचा नहीं पाए और पाकिस्तान आर्मी जिंदाबाद के नारे लगाने लगे। अभिनंदन समझ गए कि वह पाकिस्तान में हैं लेकिन बिना डरे उन्होंने हवा में फायरिंग की।

हाथों में पत्थर लिए हुए लोगों को डराने के लिए भारतीय पायलट अभिनंदन ने हवा में फायरिंग की। इस मुश्किल परिस्थिति में भी अभिनंदन ने साहस बनाए रखा और पाकिस्तान के आम नागरिकों की सुरक्षा का भी ध्यान रखा। वह एक तालाब में कूदे और अपनी जेब से कुछ डॉक्यूमेंट निकालकर उन्हें नष्ट करने की कोशिश की, ताकि पाकिस्तानी सेना के हाथ कुछ ना आ पाए। दुश्मन की कैद में होने के बावजूद भारतीय पायलट अभिनंदन की हिम्मत बिल्कुल भी नहीं डगमगाई। उनके साहस और हिम्मत को पूरा देश सलाम कर रहा है।

Leave a Reply