अमित शाह के हैलिकॉप्टर लैंडिंग को लेकर अब ममता का यू-टर्न

Election, News

पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार और बीजेपी के बीच तनाव और बढ़ गया है। पश्चिम बंगाल में बीजेपी की रैली को लेकर बीजेपी और ममता सरकार एक बार फिर से आमने-सामने है। बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह 22 जनवरी को मालदा में रैली करने वाले हैं। पहले स्थानीय प्रशासन ने अमित शाह के हैलीकॉप्टर को लैंडिंग की इजाजत नहीं दी थी। लेकिन मामले को तूल पकड़ता देख मालदा प्रशासन ने बाद में इसकी इजाजत दे दी।

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा है कि अनुमति दी गई थी, लेकिन यह सुरक्षा से जुड़ा मुद्दा है। पुलिस ने कहा था कि अमित शाह का हैलीकॉप्टर किसी और स्थान पर उतारा जाना चाहिए। पुलिस के अनुरोध पर मैंने भी अपने चॉपर को उतारने की जगह बदल दी थी। ममता ने आगे कहा कि हमने बैठक की अनुमति इसलिए दी थी क्योंकि हम लोकतंत्र में विश्वास करते हैं। बीजेपी सूचनाओं को तोड़-मरोड़कर जनता को गुमराह कर रही है। हैलीकॉप्टर को लैंडिंग की इजाजत मिलने के बाद भी विवाद खत्म नहीं हुआ। केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने ममता बनर्जी पर निशाना साधा और कि झूठीं बातें कहकर हैलीकॉप्टर को लैंडिंग करने से मना किया गया।

जानकारी के मुताबिक, रविशंकर ने कहा कि 22 जनवरी को हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह मालदा में रैली को संबोधित करने वाले हैं। लेकिन उनके हैलीकॉप्टर को लैंड करने की इजाजत देने से यह कहकर इनकार कर दिया गया है कि जमीन पर कुछ मरम्मत का काम चल रहा है  और वहां पर कुछ कंस्ट्रक्शन मैटीरियल पड़ा हुआ है। लेकिन उसी हेलीपैड पर ममता जी का हैलीकॉप्टर कुछ दिनों पहले लैंड हुआ था। वह जगह बिल्कुल साफ-सुथरी है। झूठ के आधार पर और सरकारी शक्तियों का दुरुपयोग करते हुए हैलीकॉप्टर लैंडिंग की अनुमति देने से मना कर दिया गया है।’

 

Leave a Reply