‘खून की दलाली’ पर खौला अमित शाह का खून, राहुल-केजरीवाल को जमकर लताड़ा

Amit shah slams opposition on surgical strike issue

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के खून की दलाली के बयान की बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कड़ी आलोचना की है। उन्होंने कहा कि राहुल के इस बयान से देश और भारतीय सेना का अपमान हुआ है जिसकी बीजेपी कड़े शब्दों में निंदा करती है। अमित शाह ने कहा कि राजनीति के लिए तमाम मुद्दे हैं। लेकिन इन लोगों को हल्की बातों को कहने से बचना चाहिए। उन्होंने कहा कि आप कभी हमें मौत के सौदागर, जहर की खेती और कभी खून की दलाली जैसे बयान देते रहे हैं।

 

अमित शाह ने कहा कि यह बात सभी जानते हैं कि आप पीएम मोदी के लिए क्या सोचते हैं। जब भी आपने बयान दिए तब हम पूर्ण बहुमत से आए और आपकी जमानत जब्त हुई। सरकार देश की सुरक्षा करने के लिए सक्षम हैं। देश की सीमाओं का कोई अपमान नहीं कर सकता है। सिर काटने की प्रथा को हम बिल्कुल बर्दाश्त नहीं करेंगे।

 

उन्होंने कहा कि इसमें बिल्कुल भी संदेह नहीं है कि भारतीय सेना ने शानदार काम किया है। सेना की बहादुरी पर जो लोग संदेह कर रहे है वो देश की जनता और सेना का अपमान करने का काम कर रहे हैं। सेना के डीजीएमओ ने साफ तौर पर कह दिया है कि सेना ने पीओके में उचित जवाब दिया है लिहाजा इस मुद्दे पर अब कुछ कहने की आवश्यकता नहीं है। लेकिन जिस तरह से राजनीतिक दल इस पर राजनीति कर रहे हैं उसका मतलब साफ है कि मुद्दाविहीन विपक्ष पूरी तरह हताश है।

 

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने जो लोग सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल उठा रहे हैं वो पहले अपने गिरेबान में झांके। विपक्ष इस तरह के बयान देकर भारतीय फौज के मनोबल को तोड़ रहा है। विपक्षी दलों के लोग सेना की भावना पर सवाल उठा रहे हैं।

 

साथ ही अमित शाह ने दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल को भी जमकर फटकार लगाई। अमित शाह ने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक पर केजरीवाल के बयान देने के बाद वो पाकिस्तान में ट्रेंड होने लगे। दरअसल ये लोग सस्ती लोकप्रियता हासिल करने के लिए कुछ भी कह सकते हैं। अमित शाह ने कहा कि केजरीवाल जी अपनी जिम्मेदारी से भागते हैं, जब उनसे सवाल पूछा जाता है तो वो दूसरे लोगों पर तोहमत लगाते हैं। सेना की इस कार्रवाई के बाद उन्हें डर सता रहा है कि कहीं पंजाब में उनकी लड़ाई कमजोर न हो लिहाजा वो सेना के सहारे बीजेपी पर निशाना साध रहे हैं।

अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस उपाध्यक्ष जवानों के खून की दलाली के बयान के बाद पाकिस्तान में ट्रेंड होने लगे। बीजेपी इस तरह के मंतव्यों का समर्थन नहीं करती है। कांग्रेस नेताओं की समझ आलू की फैक्ट्री तक ही सीमित हो चुकी है। उन्हें अब ये समझ में नहीं आता है कि गंभीर विषयों पर किस तरह से अपनी बात देश के सामने रखनी चाहिए। उनका एक नेता कहता है कि सर्जिकल स्ट्राइक फर्जी थी, दूसरे नेता तत्कालीन डीजीएमओ पर सवाल खड़ा कर देता है। मैं राहुल गांधी से पूछना चाहता हूं कि सेना के इस बलिदान का क्या कोई मोल हो सकता है। ये बयान कांग्रेस की मानसिकता बताता है। दस साल तक सेना की अनदेखी हुई। आज जब सेना हर तरीके से मजबूत है तो आप उन पर आरोप लगा रहे हैं।

गौरतलब है कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल राहुल ने कहा, ‘जो हमारे जवान हैं, जिन्होंने जम्मू-कश्मीर में अपना खून दिया है, जिन्होंने हिंदुस्तान के लिए सर्जिकल स्ट्राइक किए हैं, उनके खून के पीछे आप (पीएम) छुपे हैं, उनकी आप दलाली कर रहे हो, ये बिल्कुल गलत है। हिंदुस्तान की सेना ने हिंदुस्तान का काम किया है। आप अपना काम कीजिए, आप किसान की मदद कीजिए, आप हिंदुस्तान की सेना को सातवें पे कमीशन में पैसा बढ़ाकर दीजिए, ये आपका काम है।’

  • Show Comments (0)

Your email address will not be published. Required fields are marked *

comment *

  • name *

  • email *

  • website *

You May Also Like

यूपी की इस बड़ी पार्टी ने किया ऐलान, 2019 में इस दल का करेंगे समर्थन

“बीजेपी कभी अपने मंसूबों में कामयाब नहीं हो पाएगी”, यह पहला बयान था भीम आर्मी ...

sonia announced this thing after rahul became the president

राहुल के अध्यक्ष बनते ही सोनिया ने की ये बड़ी घोषणा!

कांग्रेस पार्टी की कमान अब राहुल गांधी के हाथों में आ गई है। राहुल को ...