Press "Enter" to skip to content

भगवान हुए मॉडर्न, अब आईफोन से कर रहे है मुराद पुरी

Spread the love

आपने आज तक भगवान में बहुत ज्यादा विश्वास रखने वाले कई लोग देखे होंगे और भगवान को कई महंगे महंगे तोहफे अर्पित करते हुए भी देखा होगा। जिन महंगे तोहफों में रूपये पैसे से लेकर, गहने कपड़े और बहुमूल्‍य सजावटी समान तक सभी शामिल होते हैं, पर इस एक भक्‍त ने कुछ ऐसा कर दिया जिसे पढ़कर आप सभी लोग हैरान रह जाएंगे।  पिछले दिनों विजयवाड़ा के भगवान सुब्रमण्या स्वामी मंदिर में भगवान के दानपात्र में एक अनोखा उपहार देखा गया था, जिसे देखने के बाद सभी मंदिर सेवक हैरान रह गए थे।

असल में यहां दर्शन के ल‍िए रोजाना बड़ी संख्या में लोग आते है। इस मंदिर में सर्प दोष निवारण, केतु दोष पूजा और अनपथ्या दोष के न‍िवारण की भी पूजा की जाती है। इसीलिए यहां पर चढ़ावा भी बहुत ज्यादा चढ़ाया जाता है, लोग दानपात्र में भी काई महंगा महंगा सामान डाल कर चले जाते हैं। ऐसे में इसी दानपात्र को जब शाम को चढ़ावा देखने के लिए खोला गया था तो सभी सेवक और वहां मोजूद बाकी लोग दंग रह गए थे।

आपको बता दें कि इस दानपात्र में एक आईफोन एस 6 पड़ा हुआ मिला था। पहले तो सबको ऐसा लगा था कि शायद ये फोन नकली होगा, लेक‍िन जब इस फोन की अच्छे से जांच की गई फिर पता चला कि ये फोन एकदम असली फोन है और चालू हालत में है। इसके बाद मंद‍िर में स्मार्टफोन के रूप में आये इस अनोखे चढ़ावे की सूचना मंदिर के एक्जीक्यूटिव ऑफिसर एम शारदा कुमार को दे दी गई। अब इस अनोखे उपहार को लेक‍र लोग अपने-अपने ह‍िसाब से कई तरह के अजीब अजीब कयास लगा रहे हैं। कुछ लोगों ने कहा है कि क‍िसी भक्‍त ने हो सकता फोन का व्यापार शुरू कर दिया होगा और इसी वजह से उसने पहला फोन भगवान को भेंट क‍िया।

कुछ लोग का कहना है कि हो सकता फोन चढ़ाने वाले ने अपने दोषों को कम करने के ल‍िए महंगा चढ़ावा चढ़ा दिया होगा। हालांक‍ि अब सच क्‍या है ये तो आईफोन 6 एस चढ़ाने वाले को ही मालूम होगा। वहीं इस संबंध में मंद‍िर समि‍त‍ि का कहना है क‍ि वह इस उपहार को लेकर सरकार से मशव‍िरा करेगी उसके बाद ही इसको लेकर कोई फैसला लि‍या जाएगा। बहरहाल इन दिनों मंद‍िर में आईफोन 6 एस चढ़ने वाला यह मामला काफी चर्चा में है।

More from At A GlanceMore posts in At A Glance »

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.