IAS बी चंद्रकला के घर CBI की छापेमारी, कुछ ही सालों में बढ़ी थी इतनी प्रतिशत संपत्ति

Investigation, News

CBI रेत खनन को लेकर काफी एक्टिव हो गई है। आपको बता दें कि CBI ने उत्तर प्रदेश और दिल्ली में 12 जगहों पर छापे मारे हैं। इन छापों में कई बड़े लोगों का नाम सामने आ रहा है। इन बड़े लोगों में जो सबसे बड़ा नाम सामने आ रहा है वो है आईएएस अधिकारी बी. चन्द्रकला। जिनके घरों पर छापे मारे गए हैं।

आपको बता दें कि चन्द्रकला के साथ-साथ और भी कई बड़े अधिकारियों के घर पर छापे मारे गए हैं। ये चन्द्रकला वही डीएम चन्द्रकला हैं, जो सीसीएल मीडिया पर अपने भ्रष्टाचार के खिलाफ अपने अभियानों के लिए मशहूर हैं और इनकी सोशल मीडिया पर काफी फैन फॉलोविंग भी है। आपको बता दें कि CBI के छापे उत्तर प्रदेश के जालौन, हमीरपुर, लखनऊ समेत कई जिलों के साथ ही दिल्ली में भी मारे गए।

दरअसल, सीबीआई इलाहाबाद उच्च न्यायालय के निर्देश पर मामले की जांच कर रही है। बी. चंद्रकला का घर योजना भवन के पास सफायर एंड विला में है। फिलहाल तो चंद्रकला डेप्यूटेशन पर हैं। यूपी में उनकी छवि एक कड़क और ईमानदार अफसर की रही है। इससे पहले बुलंदशहर, हमीरपुर समेत कई जिलों में बतौर डीएम चंद्रकला ने अपने कामों और कड़क अंदाज की वजह से वाहवाही और सुर्खियां बटोर चुकी हैं। सीबीआई ने चंद्रकला के हमीरपुर आवास पर छापेमारी की है।

बी. चन्द्रकला 2008 बैच की IAS अधिकारी हैं। सोशल मीडिया पर चंद्रकला काफी मशहूर हैं लेकिन लोकप्रियता के मामले में चंद्रकला उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से कहीं आगे हैं। फेसबुक पर चंद्रकला के 8,636,348 से ज्यादा फॉलोअर्स हैं। वहीं, अखिलेश के फॉलोअर्स की संख्या 6,816,363 है।

पहले भी लग चुके हैं चंद्रकला पर ‘दाग

आपको बता दें कि साल 2017 में IAS बी. चंद्रकला को संपत्ति का ब्योरा देने में डिफॉल्टर साबित किया गया था। सिविल सेवा अधिकारियों को 2014 के लिए 15 जनवरी 2015 तक अपनी संपत्ति का रिकॉर्ड देना था। लेकिन एक साल बीतने के बाद भी इन अधिकारियों ने अपनी संपत्ति का ब्योरा नहीं दिया था। चंदकला का नाम भी इसमें शामिल था।

केंद्र सरकार के सामान्य प्रशासन एवं प्रशिक्षण विभाग की जानकारी के मुताबिक चंद्रकला की संपत्ति 2011-12 में सिर्फ 10 लाख रुपये थी।2013-14 में यह बढ़कर करीब 1 करोड़ रुपये हो गई। यानी एक साल में उनकी संपत्ति 90 फीसदी बढ़ी।

Leave a Reply