Press "Enter" to skip to content

इन बच्चों से आती थी बदबू तो स्कूल ने उठाया यह कदम कहा, अमीर घर के बच्चों को नहीं होनी चाहिए तकलीफ

दिल्ली में सरोजनी नगर के एक स्कूल से हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। स्कूल में 7 स्टूडेंट्स को महज इसलिए निकाल दिया क्योंकि उनसे बदबू आती है, क्योंकि इससे अमीर घर के बच्चों को परेशानी आती है। वहीं अब पीड़ित बच्चों के परिवार वाले स्कूल के चक्कर काट रहे हैं कि उनके बच्चों को वापस बुला लिया जाए। वहीं स्कूल प्रशासन इस तरह की खबर से इनकार कर रहा है और उनका कहना है कि उन्होंने खुद अपने बच्चों को निकलवाया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सरोजनी नगर के एनपी को-एजुकेशन सेकंडरी स्कूल में चार महीने पहले एक बच्चे का ट्रांसफर सर्टिफिकेट देते हुए निकाल दिया था क्योंकि उसमें से बदबू आती है। पिछले साल भी यही दलील देते हुए और छह बच्चों को स्कूल आने से मना किया गया था। बताया जा रहा है कि ये सभी बच्चे गरीब परिवारों से आते हैं।

स्कूल प्रशासन – आपके बच्चों में से बदबू आती है

पीड़ित बच्चों में से एक परिवार का कहना है कि बच्चों को निकालने से पहले उन्हें बुलाया गया और कहा गया कि आपका बच्चा नहाकर नहीं आता है, उसके कपड़े भी गंदे रहते हैं, जिस वजह से उसमें से बदबू आती है। आगे बताया कि, स्कूल ने उनसे कहा कि, बच्चे के साथ पढ़ने वाले अमीर बच्चों को इससे परेशानी होती है, इसे लेकर कई शिकायतें आई हैं, इसलिए आपके बच्चे अब यहां नहीं पढ़ सकते। क्योंकि पीड़ित परिवार मदद के लिए एनजीओ के पास गए और तभी सी यह मामला खबरों में आया है।

स्कूल ने दी ये दलील

.

हालांकि, स्कूल ने इस तरह के किसी भी आरोपों पर सफाई देते हुए इनकार कर दिया है। स्कूल प्रशासन का कहना है कि बच्चों को उनके अभिभावकों ने खुद ही स्कूल से निकलवाया है। उन्होंने कहा कि संबंधित परिवारों ने स्कूल में चिट्ठी दी थी कि वे गांव जा रहे हैं, इस वजह से अपने बच्चों को निकलवाना चाहते हैं। इस बेसिस पर उन्हें ट्रांसफर सर्टिफिकेट दे दिया गया था। स्कूल ने यह भी कहा कि, एक बच्चे को इसलिए निकाला गया था क्योंकि वो क्लास में हिंसक हो जाता था, हालांकि, उसे भी बाद में दोबारा दाखिला दे दिया गया।

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.