आरएसएस ने राम मंदिर बनाने की ‘डेडलाइन’ की तय, पढ़ें पूरी खबर

Politics

देश की सियासत से लेकर कानूनी गलियारों तक सबसे विवादित मुद्दा राम मंदिर हमेशा ही खबरों में रहा है। लेकिन अब इस मामले पर एक बड़ी खबर आ रही है। आपको बता दें कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण की तारीख को लेकर राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ के सरकार्यवाहक भैयाजी जोशी ने बयान दिया है, जिसके बाद इस बयान के काफी सियासी मायने निकाले जा रहे हैं। दरअसल, भैयाजी ने कहा है, मंदिर निर्माण आज शुरु होगा तो वर्ष 2025 तक पूरा होगा। उनका ये बयान भी अपने पहले दिए गए बयान की सफाई के तौर पर सामने आया है। उन्होंने कहा कि, ‘हमारी इच्छा है कि 2025 तक अयोध्या में राम मंदिर बन जाए। मैंने 2025 में शुरु करने की बात नहीं की, आज से शुरु होगा तो 5 वर्षों में बनेगा।’

भैयाजी के इस बयान के चाहे जो मायने हो लेकिन इसका एक इशारा ये भी है कि, आरएसएस को इस साल ही 100 साल पूरे होंगे और संघ चाहता है कि इस साल मंदिर का निर्माण कार्य शुरु हो जाए। ऐसे में देखें तो संघ राम मंदिर निर्माण के लिए सरकार को पूरा समय दे रहा है। एक तरफ जहां इस समय देशभऱ में राम मंदिर बनाए जाने को लेकर काफी मांग उठ रही है वहीं आरएसएस का ये बयान शायद मोदी सरकार के लिए एक राहत लेकर आया है।

हालांकि इससे पहले भी गुरुवार को प्रयागराज के कुंभ मेले में भैयाजी जोशी ने बातों बातों में मोदी सरकार पर निशाना बनाते हुए कहा दिया था कि राम मंदिर साल 2025 में बनेगा। आपको बता दें कि आरएसएस सरकार की तरफ से मंदिर की पहल न करने को लेकर नाराज है और लगातार सरकार पर निशाना साध रही है। संघ को आशंका है कि अगर बीजेपी सत्ता में आई तो वे मंदिर निर्माण को लेकर कोई पहल नहीं करेंगे।

संघ सरकार्यवाह के मुताबिक, राम मंदिर सिर्फ एक मंदिर का निर्माण नहीं है, बल्कि यह करोड़ों हिन्दुओं की आस्था और सम्मान से भी जुड़ा हुआ है। कुंभ मेले में हरिद्वार की संस्था दिव्य प्रेम सेवा मिशन द्वारा आयोजित सेमिनार में भैया जी जोशी ने सिर्फ मंदिर ही नहीं बल्कि विकास से जुड़े मुद्दों पर भी मोदी सरकार को घेरने की कोशिश की थी। भैयाजी ने कहा कि, विकास को गति तब मिलेगी, जब अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण होगा। भारत उसी तरह तेजी से आगे बढ़ेगा जिस तरह 1952 में सोमनाथ मंदिर के निर्माण के बाद हुआ था और जवाहर लाल नेहरू पीएम थे।

Leave a Reply