कोलकाता हिंसा: अगर CRPF ना होती तो मेरा जिंदा बचकर निकलना भी मुश्किल था- अमित शाह

News

कोलकता में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो हुई हिंसा के बाद से ही दोनों तरफ से वार-पलटवार का दौर जारी है। अमित शाह ने ममता बनर्जी पर पलटवार करते हुए कहा है कि हिंसा की खबर सुबह से थी, लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। साथ ही, शाह ने कहा कि टीएमसी के लोगों ने ही झूठ फैलाने के लिए मूर्ती तोड़ी। अमित शाह ने आगे कहा कि छह चरणों में बंगाल के सिवा कहीं हिंसा नहीं हुई। ममता जी की कह रही हैं कि बीजेपी हिंसा कर रही है। ममता जी 42 सीटों पर लड़ रही हैं, हम तो देश भर में चुनाव लड़ रहे हैं। कहीं और तो हिंसा नहीं हुई। यानि साफ है टीएमसी के लोग हिंसा कर रहे हैं। साथ ही अमित शाह ने कहा कि अगर कल सीआरपीएफ नहीं होती है तो मेरा बचकर निकलना मुश्किल था।

बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि हमारे पोस्टर बैनर फाड़े गए। हमारे कार्यकर्ताओं को उकसाया गया। हमारे कार्यकर्ता चुप रहे। दो से ढाई लाख लोग रोड शो के लिए पहुंचे थे। हमला तीन बार हुआ, पत्थर, कैरोसीन ऑयल सबका इस्तेमाल किया गया। सुबह से खबर थी कि कॉलेज से लड़के हिंसा कर सकते हैं। लेकिन पुलिस ने कुछ नहीं किया। टीएमसी के लोग कह रहे हैं कि बीजेपी के लोगों ने ईश्वर चंद विद्यासागर की प्रतीमा तोड़ी। लेकिन हम तो कॉलेज के बाहर थे। अंदर तो टीएमसी के लोग थे। ये टीएमसी के लोगों ने ही झूठ फैलाने के लिए मूर्ती तोड़ी।

अमित शाह ने आगे कहा कि बंगाल में एक भी जगह हिस्ट्रीशीटर की गिरफ्तारी नहीं हुई। चुनाव आयोग की निष्पक्षता पर सवाल खड़ा होता है। दो दिन पहले ममता दीदी ने धमकी दी। चुनाव आयोग ने क्यों संज्ञान नहीं लिया? ममता दीदी आप मुझसे बड़ी हो पर चुनाव लड़ाने में मेरा अनुभव आप से ज्यादा है। बंगाल के लोगों ने तय कर लिया है कि टीएमसी की हार तय है। मैं कह रहा हूं कि देश में बीजेपी को अकेले बहुमत मिलेगा। मुझे अभी खबर मिली है कि मेरे खिलाफ एफआईआर हुई है। हमारे तो आपने 60 लोगों को मार दिया फिर भी हमारा संघर्ष नहीं रूका। ममता दीदी आपका समय खत्म हो गया है। हम बंगाल में 23 सीटें जीत कर स्वीप करने जा रहे हैं।

Leave a Reply