बजट पेश करते वक्त सदन में लगे मोदी-मोदी के नारे, जानिए वजह…

Election, News

लोकसभा चुनाव से पहले आज मोदी सरकार का अंतरिम बजट पेश किया गया। जिसमें किसानों, मजदूरों और मध्यम वर्ग को ध्यान में रखा गया है। बजट पेश करने के दौरान वित्त मंत्री पीयूष गोयल टैक्स की बात को छोड़कर आगे बढ़ गए तो सबको लगा की इस बार भी नौकरी पेशा लोगों के हाथ निराशा ही लगेगी। लेकिन ऐसा नहीं हुआ। सरकार ने बजट में आयकर टैक्स में छूट की है। जैसे ही सरकार ने आयकर में छूट की घोषणा की तो पूरा सदन तालियों से गूंज उठा और सदन में मोदी-मोदी के नारे लगने लगे।

बता दें कि सरकार ने आयकर स्लैब में मिलने वाली छूट में बड़ा इजाफा किया है। अब पांच लाख की आय पर किसी तरह का कोई टैक्स नहीं देना होगा। वहीं बचत करने पर 6.50 लाख रुपये की सालाना आय पर किसी तरह का टैक्स नहीं लगेगा। स्टैण्डर्ड डिडक्शन 40 हजार से बढ़कर 50 हजार रुपये हुआ। इसके साथ ही फिक्सड डिपॉजिट पर मिलने वाले ब्याज दर को 10 हजार रुपये से बढ़ाकर 40 हजार रुपये कर दिया है। सरकार की इस घोषणा से 3 करोड़ से अधिक आयकरदाताओं को फायदा मिलेगा।

वहीं, सरकार ने मध्यम वर्ग को एक और बड़ी राहत देते हुए ग्रैच्युटी की सीमा को 10 लाख रुपये से बढ़ाकर के 20 लाख रुपये करने और सैलरी पाने वाले पीएफ अंशधारकों को 6 लाख रुपये सालाना का बीमा देने का ऐलान किया है। आपको बता दें कि सरकार इस बजट को न्यू इंडिया का बजट बता रही है। तो वहीं, विशेषज्ञों के मुताबिक यह मतदाताओं का जोश बढ़ाने वाला बजट है।

सरकार के इस बजट से गरीब तबके के लोगों ने खुशी  की लहर है। लेकिन इस बजट का लोकसभा चुनाव पर क्या असर होगा। क्या देश की जनता मोदी सरकार के प्रति अपने ये खुशी चुनाव में बीजेपी को सत्ता तक पहुंचाकर जाहिर कर पाएगी। या फिर बीजेपी के हाथ निराशा लगेगी। ये  तो चुनाव के बाद ही साफ हो पाएगा।

Leave a Reply