अपने बेटे से ही देश को सुरक्षित नहीं रख पाए देश के सबसे बड़े सुरक्षा सलाहकार!

Crime, News

देश के सबसे बड़े सुरक्षा सलाहकार अपने बेटे से ही देश को सुरक्षित नहीं रख पाए। जी, हां हम बात कर रहे हैं देश के सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल के बेटे विवेक डोभाल की। विवेक डोभाल पर आरोप है कि वो केमैन द्वीप में एक हेज फंड चलाते हैं। कारवां के मुताबिक उन्होंने इसकी शुरुआत नोटबंदी के 13 दिन बाद की थी। खबरों के मुताबिक विवेक डोभाल का कारोबार उनके बड़े भाई शौर्य डोभाल द्वारा चलाए जा रहे कारोबार से जुड़ा है।

कारवां की ख़बर के मुताबिक सिंगापुर और अमेरिका से मिले दस्तावेज इसकी पुष्टि करते हैं। विवेक डोभाल का कारोबार उनके भाई शौर्य डोभाल द्वारा चलाए जा रहे कारोबार से जुड़ा हुआ है। आपको बता दें कि शौर्य डोभाल भारतीय जनता पार्टी के नेता भी हैं और इंडिया फाउंडेशन नाम का थिंक टैंक चलाते हैं। जिस हेज फंड की बात की गई है उसका नाम जीएनवाई एशिया फंड है, विवेक डोभाल इसके निदेशक हैं।

हेज फंड कंपनी केमैन द्वीप पर है जो एक टैक्स हैवेन है। टैक्स हैवेन उन देशों को कहते हैं जहां विदेश के पैसे को निवेश करने में टैक्स बेहद कम या न के बराबर लगता है। असल में यहां लोग अपना टैक्स बचाने के लिए निवेश करते हैं। अजीत डोभाल ने 2011 में कहा था कि टैक्स हैवेन में पैसा लगाने वालों पर कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए। लेकिन अब उनके बेटे एक ऐसे काम में फंसे दिख रहे हैं। हेज फंड निवेशकों या लोगों का एक समूह होता है। इस समूह में निवेशक एक जगह अपना पैसा इकट्ठा करते हैं। उसके बाद उसे अलग-अलग कंपनियों में और देश में इन्वेस्ट करते हैं। लेकिन कारवां मैग्जीन ने इस मामले में यह आरोप लगाया है कि इस हेज फंड से साउदी अरब और कतर के निवेशकों का पैसा भारत में और एशिया में इन्वेस्ट किया जा रहा है।

Leave a Reply