हार्दिक पांड्या ने बयां किया दर्द, महिलाओं पर अश्लील टिप्पणी करने का लगा था आरोप

Sports

भारत और मुंबई इंडियंस के ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या ने पिछले सात महीनों को अपनी जिंदगी का सबसे मुश्किल दौर बताया। उन्होंने कहा कि जब वो महिलाओं पर अपनी टिप्पणियों के कारण विवाद में फंसे थे तो उन्हें कुछ समझ नहीं आ रहा था कि आगे क्या करना चाहिए।

बता दें कि मुंबई इंडियंस की चेन्नई सुपर किंग्स पर आईपीएल मैच में जीत में अहम भूमिका निभाने वाले हार्दिक पांड्या को इस साल की शुरुआत में एक टीवी कार्यक्रम के दौरान महिलाओं पर अपनी टिप्पणियों के चलते बीसीसीआई ने उन्हें निलंबित कर दिया था। हार्दिक को ऑस्ट्रेलिया दौरे के बीच से भारत भेज दिया गया था। बाद में जांच लंबित होने तक उनका निलंबन हटा दिया गया।

हार्दिक पांड्या ने कहा कि वह इस विवाद को अब भूल चुके हैं। पंड्या ने आगे कहा कि मैं टीम की जीत में भूमिका निभाकर अच्छा महसूस कर रहा हूं। सात महीने में मैं बमुश्किल कोई मैच खेल पाया। यह मुश्किल दौर था और मैं नहीं जानता था कि क्या करना है। मैं लगातार बल्लेबाजी पर ध्यान दे रहा था। मैं हर मैच में अपने प्रदर्शन में सुधार करना चाहता था। इस तरह से बल्लेबाजी करना और टीम को जीत दिलाना बहुत अच्छा अहसास है।

बता दें कि कल रात हुए मुकाबले में हार्दिक पांड्या ने आठ गेंदों पर नाबाद 25 रन बनाए और फिर तीन विकेट लिए। जिससे मुंबई ने चेन्नई पर 37 रनों से जीत दर्ज की। हार्दिक ने मैच ऑफ द मैच पुरस्कार को उन लोगों को समर्पित किया जिन्होंने मुश्किल दौर में उनका साथ दिया। हार्दिक ने कहा कि मैं चोट के कारण बाहर था और फिर विवाद पैदा हो गया। मैं इस मैन आफ द मैच को अपने परिवार और दोस्तों को समर्पित करना चाहता हूं जिन्होंने इस मुश्किल समय में मेरा साथ दिया। पांड्या ने आगे कहा कि अब मेरा ध्यान केवल आईपीएल खेलने और यह सुनिश्चित करने पर लगा है कि भारत विश्व कप जीते।

Leave a Reply