Wikileaks4india Exclusive Video: जानिये सुपर एनकाउंटर कॉप की जुबानी, ठांय-ठांय कहानी…

आप सभी को उत्तर प्रदेश पुलिस के उस एनकाउंटर के बारे में तो पता ही होगा, जब एक पुलिस वाले की बन्दूक ने बदमाशों के एनकाउंटर के वक्त जवाब दे दिया था और उस पुलिस वाले को अपने मुंह से गोलियों की आवाज निकाल कर बदमाशों को डराना पड़ा था।

 

 

लेकिन आपको बता दें कि इस घटना के बाद पुलिस वाले की काफी खिल्लियां भी हर जगह पर उड़ाई जा रही है। पुलिस को उस मामले के बाद काफी ट्रोल भी किया जा रहा है। लेकिन जिस मुद्दे पर हर जगह उत्तर प्रदेश पुलिस को ट्रोल किया जा रहा है उसमें कोई भी सब इंस्पेकटर मनोज के दिमाग की तारीफ नहीं कर रहा है। क्योंकि अगर उस वक्त वो इनामी बदमाश पुलिस के हाथों निकल जाता तो वो भी नुकसानदायक ही था। जब बात एनकाउंटर की आती है तो उसमें पिछले 3 महीनों में यूपी पुलिस ने लगभग 118 एनकाउंटर्स किए है और सभी एनकाउंटर्स तारीफ के काबिल थे। लेकिन सिर्फ एक घटना की वजह से उनके सभी एनकाउंटर्स की सफलता को भुला दिया गया है, और पूरी पुलिस फोर्स को सवालों में लाकर खड़ा कर दिया है।

 

एनकाउंटर के वक्त यूपी पुलिस की बंदूक ने दिया धोखा, तो मुंह से ही 'ठांय-ठांय' की आवाज निकाल बदमाशों को डराया

 

क्या था पूरा मामला ?

दरअसल बात ये है कि यूपी के संभल में एनकाउंटर के दौरान अचानक पुलिस की बन्दूक जाम हो गई और बदमाश सामने गन्ने के खेत में ही थे। जब फायरिंग की बात आई तो बंदूक में कुछ तकनीकि खराबी आने की वजह से वो जाम हो गई। जिसकी वजह से फायरिंग न होने की वजह से पुलिसवालों ने बदमाशों को डराने के लिए अपने मुंह से ही जोर-जोर से ठांय-ठांय की आवाज निकाली। इस मामले पर वहां के एएसपी का कहना है कि ‘मारो और घेरो जैसे शब्दों का इस्तेमाल बदमाशों पर मानसिक दवाब पैदा करने के लिए किया गया था।

 

Image result for UP POLICE NE GOLI KI AWAAJ NIKAL KAR KIYA ENCOUNTER

 

ऐसे पुलिसवालों की तारीफ होनी चाहिए 

हर वक्त लोग किसी भी स्थिति में पुलिस वालों को ही गाली देते हैं, ट्रोल करते हैं और उनकी इज्जत भी बहुत कम की जाती है। लेकिन जब कोई पुलिस वाला इतनी बुरी स्तिथि में भी अपने दिमाग और सय्यम से काम ले तो उस पुलिस वाले को तारीफ मिलनी चाहिए, लेकिन यहां बिलकुल उलट उनकी आलोचना की जा रही है।

 

Image result for UP POLICE NE GOLI KI AWAAJ NIKAL KAR KIYA ENCOUNTER

 

इस मामले को और गहराई से समझने के लिए WikiLeaks4India की टीम ने नोएडा के एसएसपी और यूपी पुलिस में सिंघम के नाम से मशहूर एनकाउंटर स्पेशलिस्ट डॉ अजय पाल शर्मा के साथ खास बातचीत की। आपको ये भी दें कि अजय पाल को सिंघम इसलिए कहा जाता है, क्योंकि इन्होंने सिर्फ 32 साल की उम्र लगभग 60 एनकाउंटर्स किये है। एनकाउंटर के समय कितनी परेशानियां आती है और किस तरह से एक एनकाउंटर किया जाता है। आइये जानते है अजय पाल शर्मा की जुबानी :-

देखें वीडियो – 

https://www.youtube.com/watch?v=Z7_2iy3IIgY

Tags:

  • Show Comments (0)

Your email address will not be published. Required fields are marked *

comment *

  • name *

  • email *

  • website *

You May Also Like

यूपी की इस बड़ी पार्टी ने किया ऐलान, 2019 में इस दल का करेंगे समर्थन

“बीजेपी कभी अपने मंसूबों में कामयाब नहीं हो पाएगी”, यह पहला बयान था भीम आर्मी ...

क्यों बीजेपी के लिए अहम है कर्नाटक विधानसभा चुनाव

कर्नाटक में विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान होने के साथ ही राजनीतिक गलियारों ...

samajwadi-party-tussle-reach-election-commission-both-mulayam-singh-and-akhilesh-yadav-will-claim-on-party-symbol

अब चुनाव चिह्न साइकिल पर कब्जे को लेकर सपा में छिड़ी जंग

टुकड़ों में बंट चुकी समाजवादी पार्टी में अब उसके चुनाव चिह्न पर ‘कब्जे’ की ...