Press "Enter" to skip to content

लता जी के 87वें बर्थडे पर सुनें उनके जीवन से जुड़ी 10 बड़ी बातें और 10 सदाबहार गाने

Spread the love

देश की मशहूर गायिका लता मंगेशकर का आज 87वां जन्मदिन है, इस बार जन्मदिन के मौके पर लता ने अपने प्रशंसकों से अपील की है कि इस बार लोग उन्हें तोहफा न भेजकर उन जवानों और उनके परिवार की मदद करें जो सीमा पर हमारे लिए जान कुर्बान करते हैं।

 

अपने जन्मदिन के कुछ दिन पहले लता जी ने देशवासियों के लिए एक संदेश जारी करते हुए कहा था कि,“मैं ऐसा मानती हूं कि माता, पिता, गुरु, मातृभूमि और मातृभूमि के रक्षक हमारे वीर जवान, जो देश की रक्षा के लिए अपने प्राणों की भी प्रवाह नहीं करते, उन्हीं की वजह से हम सुरक्षित रहते हैं। हमारा भी यह परम कर्तव्य बनता है कि हम उनके लिए अपनी तरफ से जो भी कुछ हो सके वो जरूर करें”।

 

लता जी की शख्सियत का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि लता जी ने 1942 से अब तक लगभग 1000 से भी ज्यादा हिंदी फिल्मों और 36 से भी ज्यादा भाषाओं में गीत गाकर गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में नाम दर्ज करा चुकी है। लता जी को उनकी उपलब्धियों के लिए भारत सरकार और सिनेमा जगत की तरफ से कई पुरस्कारों से सम्मानित किया जा चुका है। जिसमें मुख्य रुप से शामिल है- भारत रत्न, पद्मभूषण (1969), पद्मविभूषण (1999), दादा साहेब फाल्के अवार्ड (1989), महाराष्ट्रा भूषण अवार्ड (1997), 3 नेशनल फिल्म अवार्ड, 4 फिल्मफेयर बेस्ट फीमेल प्लेबेक अवार्ड, फिल्मफेयर लाइफटाइम अवार्ड (1993)।

 

लता जी के बारे में 10 खास बातें

1- आज लता मंगेशकर के नाम से मशहूर लता का नाम कभी ‘हेमा’ हुआ करता था। उनके पिता ने उनके जन्म के समय उनका नाम हेमा रखा था। मगर बाद में अपने थिएटर के एक पात्र ‘लतिका’  के नाम पर उन्होंने अपनी बेटी का नाम ‘लता’ रख दिया।

2- लता जब 13 साल की थी उसी समय उनके पिता की मृत्यु हो गई। सभी भाई बहनों में सबसे बड़ी लता के कन्धों पर पूरे घर की जिम्मेदारी आ गई। इसके बाद उनके जीवन का संघर्ष शुरू हुआ। अपने सभी भाई बहनों की देख-रेख की वजह से लता ने कभी शादी नहीं की।

3- एक बार जब वह अपनी छोटी बहन आशा भोसले को लेकर स्कूल गई तो उनके टीचर ने कहा कि आशा को भी फीस देना पड़ेगा और उन्हें स्कूल से निकाल दिया। इसके बाद लता ने यह तय किया कि वह कभी भी स्कूल नहीं जाएंगी। लेकिन कहते हैं ना किस्मत को कौन रोक सकता है। जिस लता मंगेशकर ने स्कूल की शक्ल तक नहीं देखी थी आज उसी लता मंगेशकर के नाम न्यूयॉर्क यूनिवर्सिटी सहित 6 विश्वविद्यालयों की मानक उपाधि है।

4- बचपन में लता को रेडियो सुनने का बड़ा शौक था। जब वह 18 वर्ष की थी तब उन्होने अपना पहला रेडियो खरीदा और जैसे ही रेडियो ऑन किया तो के.एल.सहगल की मृत्यु का समाचार उन्हें मिला। उन्होंने उस रेडियो दुकानदार को तुरंत वापस लौटा दिया।

5- आपको सुनकर शायद आश्चर्य हो सकता है, लेकिन लता मंगेशकर एक दिन में लगभग 12 मिर्च खाती हैं। उनका मनना है कि ज्यादा से ज्यादा मिर्च खाने से गले की मिठास बढ़ती है।

6- आज संगीत की दुनिया में राज करने वाली लता मंगेशकर को एक वक्त उन्हें गाने के लिए रिजेक्ट कर दिया गया था। फिल्म ‘शहीद’ के निर्माता ‘सशधर मुखर्जी’ यह कहते हुए लता मंगेशकर को रिजेक्ट कर दिया था कि उनकी आवाज पतली है।

7- लता मंगेशकर और मोहम्मद रफी के बीच गानों पर रॉयल्टी को लेकर विवाद हो गया था। जिसके बाद दोनों के बीच काफी दिनों तक बातचीत बंद रही। दरअसल, लता गानों की रॉयल्टी के समर्थन में थी, जबकि रफी गानों की रॉयल्टी में विश्वास नहीं रखते थे। इस विवाद के कारण दोनों सितारों ने आपस में बात करना ही बंद कर दिया। बाद में नरगिस की वजह से दोनों ने दोबारा से बात करनी शुरू की।

8- यूं तो लता ने अपने सिने करियर में कई नामचीन अभिनेत्रियों के लिए गायन किया है, लेकिन अभिनेत्री मधुबाला जब फिल्म साइन करती थीं तो अपने कांट्रेक्ट में इस बात का उल्लेख करना नहीं भूलती थी कि उनके गाने लता ही गाएंगी।

9- लता जब हेमंत कुमार के साथ गाने गाती थीं तो इसके लिए उन्हें ‘स्टूल’ का सहारा लेना पड़ता था। इसकी वजह यह थी कि हेमंत कुमार उनसे काफी लंबे थे।

10- लता की सबसे पसंदीदा फिल्म द किंग एंड आई है। हिंदी फिल्मों में उन्हें त्रिशूल, शोले, सीता और गीता, दिलवाले दुल्हनियां ले जाएंगे और मधुमती पसंद हैं। साल 1943 में रिलीज फिल्म किस्मत इतनी पसंद आई कि उन्होंने इसे लगभग 50 बार देखा था।

 

सुने लता मंगेश्कर के टॉप 10 सदाबहार गाने

1- एे दिल नादान 

2- सत्यम शिवम सुंदरम

3- नैना बरसे रिमझिम रिमझिम

4- लग जा गले

5- इस मोड़ से जाते हैं

6- नैनो में बदरा छाए

7- कुछ दिल ने कहा

8- कहीं ये वो तो नहींं

9- यारा सीली सीली

10- रंगीला रे तेरे रंग में 

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.