दीवार और नमक हलाल जैसी फिल्में देने वाले शशि कपूर का फिल्मी सफर

by Taranjeet Sikka Posted on 45 views 0 comments
Filmology of shashi kapoor

दादासाहेब फाल्‍के अवॉर्ड और पद्म भूषण जैसे  राष्ट्रीय पुरस्कारों से सम्‍मानित शश‍ि कपूर ने बॉलीवुड को एक से बढ़कर एक सुपरहिट फिल्‍में दी हैं। अपनी आकर्षक मुस्‍कान और डायलॉग डिलिवरी के अलग अंदाज के लिए मशहूर बॉलीवुड के ये दिग्गज आज शाम हमें छोड़ कर चले गए। लंबे वक्त से बिमारी से जुंझ रहे शशि साहब आज हमें बेशक हमेशा के लिए छोड़कर चले गए हो लेकिन अपनी फिल्मों के चलते वो हमेशा हमारे बीच बने रहेंगे।

शश‍ि कपूर ने बचपन से ही फिल्‍मों में काम करना शुरू कर दिया था। 1940 के दशक में शशि कपूर ने कई धार्मिक फिल्‍मों में काम किया। बाल कलाकार के रूप में उनकी फिल्में आग और आवारा काफी बड़ी हिट रही है। इन दोनों ही फिल्‍मों में शशि कपूर ने अपने बड़े भाई राज कपूर के बचपन का किरदार निभाया था।

शश‍ि कपूर ने बतौर हीरो साल 1961 में यश चोपड़ा की फिल्‍म ‘धर्मपुत्र’ से बड़े पर्दे पर कदम रखा था। इसके बाद वो करीब 100 फिल्‍मों में नजर आए। वो 1960, 1970 और 1980 के दशक के सबसे मशहूर अभ‍िनेताओं में से एक थे। इस दौरान उन्‍होंने बॉलीवुड को ‘वक्‍त’, ‘जब-जब फूल ख‍िले’, ‘कन्‍यादान’, ‘हसीना मान जाएगी’, ‘आ गले लग जा’, ‘रोटी कपड़ा और मकान’, ‘चोर मचाए शोर’, ‘दीवार’, ‘कभी-कभी’, ‘फकीर’, ‘त्रिशूल’, ‘सत्‍यम शिवम सुंदरम’, ‘काला पत्‍थर’, ‘सुहाग’, ‘शान’, ‘क्रांति’ और ‘नमक हलाल’ जैसी सुपर हिट फिल्‍में दीं है। शश‍ि कपूर ने अपने जीवन की सबसे सफल फिल्में 1970 और 80 के दशक में अमिताभ बच्चन के साथ की थी।

शश‍ि कपूर अपने जमाने के पहले अंतरराष्ट्रीय स्‍टार थे। वो बॉलीवुड के उन अभ‍िनेताओं में शामिल हैं जिन्‍होंने ब्रिटिश और अमेरिकी फिल्‍मों में भी काम किया। उन्‍होंने ‘शेक्‍सपीयर वल्‍लाह’, ‘बॉम्‍बे टॉकीज’ और अपनी पत्‍नी जेनिफर केंडल के साथ ‘हीट एंड डस्‍ट’,  ‘प्रिटी पॉली’, ‘सिद्धार्था’ और ‘सैमी एंड रोजी गेट लेड’ जैसी विदेशी फिल्‍मों में भी काम किया है। और विदेशों में बी अपना लोहा मनवाया है।

शश‍ि कपूर ने 1980 में ‘फिल्‍म वलास’ नाम से एक प्रोडक्‍शन हाउस भी खोला है जिसके तहत ‘जुनून’, ‘कलयुग’, ’36 चौरंगी लेन’, ‘विजेता’ जैसी क्रिटिकली एक्‍लेम्‍ड फिल्‍में बनाई थी। साल 1991 में उन्‍होंने अमिताभ बच्‍चन और भतीजे ऋषि कपूर के साथ ‘अजूबा’ नाम से भी एक फिल्‍म बनाई थी। शश‍ि कपूर साल 1998 में आख‍िरी बार फिल्म जिन्ना में नजर आए थे। यह फिल्म पाकिस्तान के पहले प्रधानमंत्री मोहम्मद अली जिन्ना की बायोपिक पर आधारित थी।

Comments


COMMENTS

comments