अक्षय को मिला पहला नेशनल फिल्म पुरस्कार, परिवार के साथ पहुंची सोनम

by Taranjeet Sikka Posted on 630 views 0 comments

राष्ट्रपति भवन में प्रणब मुखर्जी ने आज 64वें नेशनल फिल्म पुरस्कार दिए है। जहां एक तरफ सोनम कपूर को नीरजा फिल्म के लिए स्पेशल मेंशन अवॉर्ड दिया गया है तो वहीं डायरेक्टर के. विश्वनाथ को दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड से समानित किया गया है। इसके अलावा उत्तर प्रदेश को बेस्ट फ्रेंडली स्टेट अवॉर्ड से नवाजा है।

 

अक्षय का पहला नेशनल अवॉर्ड

अक्षय कुमार को आज पहला नेशनल अवॉर्ड मिला। उन्होंने बेस्ट एक्टर कैटेगरी में यह अवॉर्ड हासिल किया है। आपको बता दें कि उन्हें मूवी रुस्तम में बेहतरीन परफॉर्मेंस के लिए यह अवॉर्ड दिया गया है। टीनू सुरेश देसाई के डायरेक्शन में बनी रुस्तम में अक्षय ने एक नेवी ऑफिसर रुस्तम पावरी का किरदार निभाया था। फिल्म 1959 के मशहूर नानावटी मर्डर केस पर बनी है।

वहीं, राम माधवानी के डायरेक्शन में बनी नीरजा फिल्म के लिए सोनम कपूर को स्पेशल मेंशन अवॉर्ड दिया गया है। इस फिल्म की कहानी Pan Am 73 फ्लाइट के हाईजैक पर बेस्ड है। इस फ्लाइट को 5 सितंबर, 1986 में अगवा किया गया था। इसमें दिखाया गया है कि नीरजा कैसे पैसेंजर्स को आतंकियों से छुड़ाती है।

माता-पिता के साथ फंक्शन में पहुंची सोनम

सोनम कपूर को उनकी फिल्म नीरजा के लिए राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार में स्पेशल मेंशन पुरस्कार मिला है। उन्होंने कहा कि यह सम्मान उन्हें ईश्यू बेस्ड फिल्मों पर काम करने के लिए बढ़ावा दे रहा है। सोनम ने कहा कि उन्हें बहुत अच्छा महसूस हो रहा है साथ ही उन्होंने कहा कि ईमानदारी से कहूं तो मुझे इसकी उम्मीद नहीं थी। मैं कुछ सालों से ईश्यू बेस्ड फिल्मों पर काम कर रही हूं। लेकिन जाहिर है कि नेशनल अवार्ड से हौसला बढ़ा है। सोनम अपने पिता और एक्टर अनिल कपूर और मां सुनीता के साथ अवॉर्ड फंक्शन में शामिल हुई। उन्होंने कहा कि मेरे माता-पिता साथ आ रहे हैं। मुझे लगता है कि वह ज्यादा उत्साहित हैं और मैं निर्देशक राम माधवानी के लिए अधिक उत्साहित हूं, क्योंकि राम चाहते हैं कि मुझे यह पुरस्कार मिले और माता-पिता को मुझ पर गर्व हो।

 

नेशनल अवॉर्ड में किसको क्या मिला?

बेस्ट एक्ट्रेस: सुरभि लक्ष्मी। उन्हें मलयालम फिल्म मिन्नामीनुनगु के लिए यह अवॉर्ड दिया गया है।

बेस्ट फीचर फिल्म: मराठी फिल्म कासव

बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस: जायरा वसीम (दंगल)

बेस्ट स्पेशल इफेक्ट: शिवाय

सोशल इश्यू पर बनी बेस्ट फिल्म: पिंक

बेस्ट चिल्ड्रन फिल्म: नागेश कुकुनूर की धनक को।

बेस्ट बंगाली फिल्म: बिसर्जन

बेस्ट मराठी फिल्म: दशक्रिया

बेस्ट कन्नड़ फिल्म: रिजर्वेशन

बेस्ट डायरेक्टर: वेंटिलेटर फिल्म के लिए राजेश मापुस्कर

बेस्ट तमिल फिल्म: जोकर

बेस्ट गुजराती फिल्म: रॉन्ग साइड राजू

स्पेशल मेंशन: मुक्ति भवन के लिए आदिल हसन

ज्यूरी अवॉर्ड: मोहनलाल

बेस्ट एन्वायरन्मेंटल फिल्म: द टाइगर हू क्रॉस्ड द लाइन

बेस्ट फीमेल प्लेबैक सिंगर: इमाम चक्रवर्ती

स्पेशल अवॉर्ड: द आई ऑफ द डार्कनेस

Comments

comments