कांग्रेस के घोषणापत्र पर जेटली और योगी ने साधा निशाना, बोले- ‘देशद्रोहियों का साथ देने वाले एक भी वोट के हकदार नहीं’

Election, News

कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव 2019 के लिए आज अपना घोषणापत्र जारी कर दिया है। कांग्रेस के इस घोषणापत्र की बीजेपी के कई नेताओं ने आलोचना की है। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने इस घोषणापत्र को देश को तोड़ने वाला घोषणापत्र करार दिया है। अरुण जेटली ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा है कि कांग्रेस के घोषणापत्र में कहा गया कि जो वो वादे करते हैं उसे निभाते हैं। इस घोषणापत्र में ऐसी बातें हैं जो देश को तोड़ने वाले हैं और देश की एकता के खिलाफ हैं।

बता दें कि अरुण जेटली ने नेहरू और गांधी परिवार की जम्मू कश्मीर नीति पर सवाल उठाया है और कांग्रेस के इस घोषणापत्र को निशाने पर लिया है। उन्होंने कहा कि नेहरू-गांधी परिवार की जम्मू कश्मीर को लेकर जो ऐतिहासिक भूल थी और कांग्रेस उस एजेंडे को आगे बढ़ा रही है।

वित्त मंत्री ने घोषणापत्र पर अपनी प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए कहा है कि कांग्रेस खतरनाक वादे कर रही है। जेटली ने आगे कहा कि कांग्रेस का आज का नेतृत्व जिहादियों और माओवादियों के चंगुल में है। वो घोषणापत्र में कह रहे हैं कि आईपीसी से सेक्शन 124-A हटा दिया जाएगा। देशद्रोह करना अब अपराध नहीं है। जो पार्टी ऐसी घोषणा करती है, वो एक भी वोट की हकदार नहीं है।

तो वहीं, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कांग्रेस के घोषणापत्र को वादों का पुलिंदा बताया है। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि इस चुनाव में कांग्रेस नेतृत्व का ये झूठ दोबारा बेनकाब होगा। जनता कांग्रेस और उसके सहयोगी दलों को जोरदार जवाब देगी। कांग्रेस ने अपने 55 वर्षों की नाकामी को 55 पेज के अपने घोषणापत्र के माथ्यम से व्यक्त किया है।

Leave a Reply