गौतम गंभीर से पहले इन 7 क्रिकेटर्स ने थामा राजनीति का दामन, किसी को मिली सफलता तो कोई हुआ फ्लॉप

Politics, Sports

टीम इंडिया में अपनी विस्फोटक बल्लेबाजी के लिए जाने जाते थे गौतम गंभीर। छोटी कद काठी के बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने शायद ही विश्व का कोई ऐसा गेंदबाज छोड़ा हो जिसकी जमकर धुनाई ना की हो। लेकिन आपको बता दें कि गौतम गंभीर ने कुछ समय पहले ही क्रिकेट के सभी फार्मेट से सन्यास ले लिया है और तभी से उनके राजनीति में आने की खबरें सामने आ रही थी। जो आज सच भी हो गईं। दरअसल, शुक्रवार को गौतम गंभीर ने बीजेपी का दामन थाम लिया। उन्होंने बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली और रविशंकर प्रसाद की उपस्थिति में बीजेपी की सदस्यता ग्रहण की। जिसके बाद बीजेपी के खेमे में खुशी की लहर साफ नजर आई। गौतम गंभीर के बीजेपी से जुड़ने के बाद अरुण जेटली ने कहा कि बीजेपी गंभीर की प्रतिभा का इस्तेमाल करेगी और इससे पार्टी को फायदा होगा।


वहीं, बीजेपी में शामिल होने के बाद गौतम गंभीर ने कहा कि ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विजन से प्रभावित होकर भाजपा में शामिल हुआ हूं। देश के लिए कुछ करने का मौका देने के लिए भाजपा का शुक्रिया। साथ ही उन्होंने कहा कि मैं पार्टी की उम्मीदों पर खरा उतरूंगा’।


सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, गौतम गंभीर को नई दिल्ली लोकसभा सीट से प्रत्याशी बनाया जा सकता है।

इसके साथ ही आज की हमारी खबर में हम आपको उन क्रिकेटर्स के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्होंने पहले क्रिकेट जगत में काफी दौलत और शोहरत कमाई और फिर क्रिकेट से सन्यास लेकर राजनीति में उतर गए। जहां कुछ क्रिकेटर्स को राजनीति में भी खूब सफलता मिली तो किसी को राजनीति रास ना आई।

मोहम्मद अजहरुद्दीन


भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और मध्यक्रम के क्लासिक बल्लेबाज मोहम्मद अजहरुद्दीन को कौन नहीं जानता। अजहरुद्दीन ने अपनी प्रतिभा के दम पर टीम इंडिया को विश्व क्रिकेट में काफी शोहरत दिलवाई। लेकिन फिर उनपर मैच फिक्सिंग के आरोप लगे और उन्होंने क्रिकेट से सन्यास ले लिया और 2009 में कांग्रेस पार्टी ज्वॉइन कर ली और उसी साल वे उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद से लोकसभा चुनाव लड़े और वे जीत हासिल लोकसभा सांसद बन गए।

मंसूर अली खान पटौदी


भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान मंसूर अली खान पटौदी ने भी क्रिकेट में काफी नाम कमाया। क्रिकेट से सन्यास के बाद उन्होंने राजनीति में कदम रखा। 1991 में उन्होंने भोपाल सीट से लोकसभा चुनाव लड़ा लेकिन वे हार गए थे। कहा जाए तो उन्हें राजनीति में वो सफलता नहीं मिली जो उन्हें क्रिकेट में मिली थी।

कीर्ति आजाद


कीर्ति आजाद टीम इंडिया के मशहूर खिलाड़ी रहे। वे 1983 में वर्ल्डकप जीतने वाली टीम का अहम हिस्सा रहे। क्रिकेट से आजाद होने के बाद कीर्ति राजनीतिक अखाड़े में कूद गए क्योंकि उनकी परिवारिक पृष्ठभूमि भी राजनीतिक रही है। उनके पिता भागवत झा आजाद बिहार के मुख्यमंत्री भी रह चुके हैं। क्रिकेट के बाद कीर्ति आजाद ने बिहार के दरभंगा से लोकसभा चुनाव लड़ा और जीत हासिल की। वर्तमान में वे बीजेपी की तरफ से लोकसभा के तीसरे कार्यकाल में हैं। हालांकि 14 फरवरी को उन्होंने राहुल गांधी की मौजदूगी में कांग्रेस का हाथ थाम लिया।

नवजोत सिंह सिद्धू


नवजोत सिंह सिद्धू भारतीय क्रिकेट टीम के जाने-माने खिलाड़ी रहे हैं। वे अपने हाजिरजवाबी बयानों की वजह से अक्सर सुर्खियों में बने रहते हैं। सिद्धू ने 2004 में बीजेपी का दामन थामा। क्रिकेट की तरह राजनीति पारी भी उन्होंने आतिशी पारी खेलने में सफलता प्राप्त की। उन्होंने लोकसभा चुनाव में दो बार जीत हासिल की। बाद में उन्होंने अपनी पार्टी आवाज-ए-पंजाब का गठन किया। वर्तमान में वे कांग्रेस से जुड़े हैं और पंजाब कैबिनेट में मंत्री हैं और पाकिस्तान के पक्ष में बयान देने की वजह से सुर्खियों में छाएं रहते हैं।

मोहम्मद कैफ


क्रिकेट के मैदान पर अपनी फुर्तिली के लिए फेमस मोहम्मद कैफ एक समय में हर किसी के दिल पर राज करते थे। उनकी फिल्डिंग और रनिंग का हर कोई कायल था। 2014 में उन्होंने राजनीति में कदम रखा। कांग्रेस के टिकट पर उन्होंने अपने ग्रहनगर इलाहाबाद सीट से लोकसभा चुनाव लड़ा और वह ये चुनाव हार गए। जिसके बाद उनको राजनीति में भी फ्लॉप मान लिया गया और आजकल कैफ कमेंटेटर की भूमिका निबाते नजर आते हैं।

प्रवीण कुमार


टीम इंडिया के मध्यम गति के तेज गेंदबाज प्रवीण कुमार को उनकी इन स्विंग और ऑउट स्विंग के लिए जाना जाता है। एक वक्त था जब टीम इंडिया का गेंदबाजी अटैक उनके हाथ में था। विश्व का हर बल्लेबाज प्रवीण का नयी गेंद से सामना करने से हिचकिचाता था। लेकिन धीरे-धीरे प्रवीण को टीम इंडिया में जगह बनाने में मुश्किल होने लगी और वह टीम से बाहर हो गए। 29 वर्षीय प्रवीण ने 2017 में तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के साथ हाथ मिलाया और सपा में शामिल हो गए।

विनोद कांबली

विनोद कांबली मिडिल ऑर्डर बैट्समैन के तौर पर खेलते थे। कांबली ने लोक भारती पार्टी ज्वाइन की जहां उन्हें पार्टी का उपाध्यक्ष बनाया गया। उन्होंने मुंबई के विख्रोली से इसी पार्टी से विधानसभा चुनाव लड़ा लेकिन वे हार गए थे और उनका राजनीतिक करियर खत्म हो गया।

Leave a Reply