गोवा के CM मनोहर पर्रिकर का 63 साल की उम्र में कैंसर से निधन, सदमें में डूबा पूरा देश

News

गोवा के मुख्यमंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ और तेजर्रार नेता मनोहर पर्रिकर का 63 साल की उम्र में निधन हो गया है। वह लंबे समय से जानलेवा बीमारी कैंसर से लड़ रहे थे। पिछले कुछ दिनों से उनकी परेशानी कुछ ज्यादा ही बढ़ गई थी जिसके बाद उन्हें गोवा के ही मेडिकल कॉलेज में भर्ती करवाया गया था लेकिन उनके स्वास्थय में कोई सुधार देखने को नहीं मिल रहा था। मनोहर पर्रिकर के निधन की खबर सुनकर पूरा देश सदमे में डूब गया है। राजनीति, सिनेमा, खेल और कला जगत से जुड़ी हस्तियों ने उनके निधन पर गहरा दुख जताया है। गोवा के मुख्यमंत्री और देश के रक्षा मंत्री रहे मनोहर पर्रिकर अपनी सादगी और ईमानदारी की वजह से जाने जाते रहे हैं।

गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के निधन पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्वीट कर गहरा शोक जताया है।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने  पर्रिकर के निधन पर जताया शोक

जम्मू- कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने पर्रिकर के निधन पर शोक व्यक्त किया है।

भारत और गोवा ने सपूत खोया- वीके सिंह

केन्द्रीय मंत्री वीके सिंह ने भी मनोहर पर्रिकर के निधन पर गहरी संवेदना जताई है। एक ट्वीट में उन्होंने कहा है कि उनके निधन से खाली हुए जगह को कभी नहीं भरा जा सकता है। वीके सिंह ने कहा कि वे एक ऐसे नेता थे जो कठिन समस्याओं का प्रैक्टिकल समाधान लेकर आते थे.।गोवा और भारत ने आज एक महान सपूत को खो दिया है।

बता दें कि पर्रिकर सितंबर में अमेरिका से कैंसर का इलाज करवाकर भारत लौटे थे। अमेरिका में एक हफ्ते उनका इलाज चला था। इससे पहले एक बार और इलाज के लिए तीन महीने तक वह अमेरिका में रहे थे। अमेरिका से लौटने के बाद पिछले साल अक्टूबर के महीने में एक बार फिर उनकी तबीयत खराब हुई जिसके कारण उन्हें दिल्ली के एम्स में भर्ती कराया गया था। एक महीने एम्स में भर्ती रहने के बाद उन्हें एयर एंबुलेंस के जरिए गोवा ले जाया गया था। गोवा में उन्हें आईसीयू में भर्ती कराना पड़ा था।

आपको बता दें कि पर्रिकर फरवरी 2018 से ही अग्नाशय कैंसर से पीड़ित थे। मनोहर पर्रिकर की दुनियाभर में की पहचान एक ईमानदार और सादगी भरा जीवन जीने वाले नेताओं में होती है। आईआईटी बॉम्बे से ग्रेजुएट पर्रिकर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सक्रिय प्रचारक थे। वह तीन बार गोवा के मुख्यमंत्री रहे।

Leave a Reply