कुशीनगर में क्रैश हुआ वायुसेना का लड़ाकू विमान जगुआर, 10 मिनट पहले ही भरी थी उड़ान

News

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में सोमवार दोपहर वायुसेना का लड़ाकू विमान जगुआर क्रैश हो गया। बताया जा रहा है कि उड़ान भरने के कुछ देर बाद ही ये विमान क्रैश हो गया. पायलट को इस हादसे में कोई नुकसान नहीं पहुंचा है। ये विमान कुशीनगर के ग्रामीण हिस्से में खेतों में जाकर गिरा. जैसे ही खेतों में ये विमान गिरा उसके बाद गांव वालों की भीड़ वहां पर एकत्रित हो गई।

इस जगुआर ने गोरखपुर एयरबेस से उड़ान भरी थी, प्लेन क्रैश होने से पहले ही पायलट ने सूझ-बूझ से अपनी जान बचा ली। क्रैश होने से ठीक पहले पायलट विमान से बाहर निकलने में कामयाब रहा। हालांकि, पायलट ने समझदारी का परिचय दिया और विमान आबादी वाले इलाके में क्रैश ना होकर खेतों में जा गिरा, जिससे आमजन को कोई नुकसान नहीं पहुंचा। वायुसेना की ओर से इस मामले में कोर्ट ऑफ इंक्वायरी का आदेश जारी किया गया है।

हादसे के बाद वायुसेना की ओर से सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया गया है, इस ऑपरेशन में दो हेलिकॉप्टरों को लगाया गया है। बीते साल गुजरात के कच्छ में भी लड़ाकू विमान जगुआर क्रैश हुआ था। जून 2018 में हुए उस हादसे में पायलट संजय चौहान शहीद हो गए थे।

बताया जा रहा है कि ये विमान ट्रेनिंग के दौरान रुटीन उड़ान भर रहा था, लेकिन उड़ान भरने के 10-15 मिनट के अंदर ही दुर्घटनाग्रस्त हो गया।

गौरतलब है कि वायुसेना में जगुआर काफी खास किस्म का लड़ाकू विमान है। यह दुश्मन की सीमा में काफी अंदर तक घुसकर हमला कर सकते हैं। लड़ाकू विमान जगुआर की मदद से आसानी से दुश्मन के कैंप, एयरबेस और वॉरशिप्स को निशाना बनाया जा सकता है। जगुआर की खासियत है कि वह कम ऊंचाई पर उड़ान भरकर भी दुश्मन की नाक में दम कर सकता है।

Leave a Reply