आतंकवाद के खिलाफ भारतीय सेना ने की एक और सर्जिकल स्‍ट्राइक, कई आतंकी ठिकानों को किया नष्ट!

News

पुलवामा हमले के बाद से आतंकवाद के खिलाफ भारत का सख्त रुख कायम है और वो आतंकवाद को उसी की भाषा में सबक सिखाना चाहता है। बता दें कि पुलवामा आतंकी हमले बदले में भारतीय वायुसेना ने 26 फरवरी को पीओके में घुसकर एयर स्ट्राइक की थी। जिसमें करीब 300 आतंकवादियों के मारे जाने की खबर थी। साथ कई आतंकी कैंपों को भी नष्ट किया गया था।

 

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, हाल ही में भारतीय सेना ने अब म्‍यांमार सीमा पर मौजूद आतंकियों के कई ठिकानों को नेस्‍तोनाबूद कर दिया। भारतीय सेना ने म्‍यांमार सेना के साथ मिलकर इस ऑपरेशन को अंजाम दिया है। उत्तर पूर्व के लिए बड़े और अहम इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर प्रोजेक्‍ट, जो म्‍यांमार में सितवे बंदरगाह के जरिये कोलकाता से मिजोरम को जोड़ते हैं। यह इन आतंकी संगठनों के निशाने पर थे।

जानकारी के मुताबिक, म्यांमार का विद्रोही समूह अराकान आर्मी ने मिजोरम सीमा पर नए ठिकाने बनाए थे। जो कलादान प्रोजेक्‍ट को निशाना बना रहे थे। अराकान आर्मी को काचिन इंडिपेंडेंस आर्मी द्वारा नॉर्थ बॉर्डर चीन तक ट्रेनिंग दी गई। सूत्रों के अनुसार, विद्रोहियों ने अरुणाचल से सटे क्षेत्रों से मिज़ोरम सीमा तक की 1000 किमी की यात्रा की।

सूत्रों के मुताबिक पहले चरण में मिजोरम की सीमा पर नवनिर्मित शिविरों को नष्ट करने के लिए बड़े पैमाने पर संयुक्त अभियान शुरु किया गया था, जबकि ऑपरेशन के दूसरे भाग में ने टागा में NSCN (K) के मुख्यालय को निशाना बनाया गया और कई शिविरों को नष्ट कर दिया गया। रोहिंग्या आतंकी समूह अराकान आर्मी और नागा आतंकी समूह NSCN (K) के खिलाफ दो हफ्ते लंबा संयुक्त भारत-म्यांमार ऑपरेशन चला। आतंकी समूहों ने कलादान मल्टी मोडल प्रोजेक्ट की तरह भारत की कनेक्टिविटी परियोजनाओं के खिलाफ हमले की योजना बनाई थी।

Leave a Reply