मालदीव में नई सरकार की तरफ से आया “WIKILEAKS4INDIA” को न्यौता

लंबे वक्त से भारत के पड़ोसी देश मालदीव में राजनीतिक संकट बना हुआ था, जिस कारण वहां पर अब सत्ता परिवर्तन होने जा रहा है। मालदीव में नवनिर्वाचित राष्ट्रपति इब्राहिम मोहम्मद सोलिह शपथ लेने के लिए पूरी तरह से तैयार है और 17 नवंबर की तारीख का इंतजार किया जा रहा है। इस मौके पर माना जा रहा है कि भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी शामिल होंगे। आपको बता दें कि मालदीव ही भारत का एकमात्र ऐसा पड़ोसी देश है जहां पर पीएम मोदी का दौरा नहीं हुआ है। लेकिन इस शपथ ग्रहण में शामिल हो कर पीएम मोदी इस देश का दौरा भी कर लेंगे।

 

 

ऐसा माना जा रहा है कि पीएम मोदी के इस दौरे के बाद कुछ बदलाव जरूर आएगा क्योंकि लंबे वक्त से मालदीव भारत से दूर हो कर चीन के नजदीक जा रहा था। जिससे भारतीय सरकार की परेशानी बढ़ी हुई थी। काफी समय से ऐसा देखने को मिल रहा था कि भारत के मालदीव के साथ संबंध कुछ ठीक ढंग से नहीं चल रहे है, लेकिन इस दौरे के बाद इन संबंधों में सुधार होने की पूरी संभावना जताई जा रही है।

 

 

वैसे भी अगर पीएम मोदी के बारे में बात की जाए तो वो जिस भी देश के दौरे के लिए जाते हैं, वहां सभी लोगों का दिल जीत कर उनके साथ और भी बेहतर संबंधों की शुरुआत कर आते हैं। इसके साथ ही साथ इस कार्यक्रम में WIKILEAKS4INDIA से Dr. K. Siddhartha (चेयरपर्सन) के साथ ऑफिस के और भी कई सीनियर मैनेजमेंट के लोग शामिल हो रहे हैं। इस कार्यक्रम के लिए उन्हें खास रूप से न्यौता भी दिया गया है। ऐसा कम ही होता है कि पीएम मोदी किसी विदेशी यात्रा में हो और उसी दौरे पर भारतीय मीडिया भी हो और Wikileaks4india को भी इस समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में बुलाया है जो मीडिया के लिए एक बड़ी बात है। अब फिलहाल सभी लोगों को इस कार्यक्रम का इंतजार है, ताकी दोनों देशों के बीच थोड़ा हालातों में सुधार हो सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published.