पुलवामा आतंकी हमला: आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद सचिन समेत इस बड़े कांग्रेस नेता का करना चाहता था अपहरण

News

आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद की नापाक हरकतों के कारण पुलवामा आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 44 जवान शहीद हो गए। हालांकि, जैश के आतंकियों द्वारा भारत पर किया गया हमला ये कोई पहला हमला नहीं है। इससे पहले भी ये संगठन बड़े आतंकी हमले की घटनाओं को अंजाम दे चुका है और देश के नेताओं और मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर के अपहरण करने की योजना बना चुका है।

आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्‍मद ने साल 2008 में क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर को अपहरण करने की धमकी दी थी। बता दें कि साल 2007 में जब लखनऊ में तीन संदिग्ध आतंकवादियों को गिरफ्तार किया गया था तो उनसे खुलासा हुआ था कि उनके निशाने पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी थे। पूछताछ में पता चला था कि ये आतंकवादी राहुल गांधी का अपहरण करने की योजना बना रहे थे।

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में गुरुवार को जैश ए मोहम्मद आतंकी संगठन ने भारत पर सबसे बड़ा आंतकी हमला किया है। जिसमें देश के 44 जवान शहीद हो गए हैं। आतंकियों ने सेना के काफिले के पास आईईडी धमाका किया था। हालांकि, ये आतंकी संगठन इससे पहले भी देश में उरी, अमरनाथ और गुरुदासपुर जैसे हमले करा चुका है। जानकारी के मुताबिक इस आतंकी संगठन का मकसद कश्मीर में हिंसा पैदा करना और भारत में आतंकवादी हमले को अंजाम देना है।

Leave a Reply