पुलवामा आतंकी हमले के बाद मोदी सरकार ने उठाया ये सख्त कदम…..

News

जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद केंद्र की मोदी सरकार ने बड़ा कदम उठाया है। सरकार ने कश्मीरी अलगाववादियों से सुरक्षा छीनने का फैसला किया है। इन अलगाववादी नेताओं में हुर्रियत कॉन्फ्रेंस के नेता मीरवाइज़ उमर फारूक, अब्दुल ग़नी बट्ट, बिलाल लोन, हाशिम कुरैशी, शब्बीर शाह शामिल हैं। सरकारी आदेश के मुताबिक अलगाववादियों को मुहैया करवाई गई सुरक्षा वापस ली जाएगी। आदेशानुसार किसी भी अलगाववादी को सुरक्षाबल अब किसी सूरत में सुरक्षा मुहैया नहीं कराएंगे। अगर उन्हें सरकार की तरफ से कोई अन्य सुविधा दी गई है, तो वह भी तत्काल प्रभाव से वापस ले ली जाएगी।

सरकारी आदेश के मुताबिक अलगाववादियों को मुहैया करवाई गई सुरक्षा वापस ली जाएगी। आदेशानुसार किसी भी अलगाववादी को सुरक्षाबल अब किसी सूरत में सुरक्षा मुहैया नहीं कराएंगे। अगर उन्हें सरकार की तरफ से कोई अन्य सुविधा दी गई है, तो वह भी तत्काल प्रभाव से वापस ले ली जाएगी। साथ ही पुलिस मुख्यालय किसी अन्य अलगाववादियों को मिली सुरक्षा, अन्य व्यवस्थाओं की समीक्षा करेगा और उसे भी तत्काल वापस ले लिया जाएगा।

बता दें कि यह फैसला ऐसे समय में लिया गया है जब गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने दो दिन पहले कहा था कि जम्मू कश्मीर में कुछ तत्वों की आईएसआई और अन्य आतंकी संगठनों से साठगांठ है। गौरतलब है कि पुलवामा में गुरुवार को सीआरपीएफ की टुकड़ी पर किए गए फिदायीन हमले में 44 जवान शहीद हो गए थे। इस हमले को लेकर देशभर में शोक की लहर है और साथ ही लोगों में गुस्से भी है। हर तरफ यही मांग है कि जवानों की शहादत का बदला लिया जाए। मोदी सरकार इसके लिए एक्शन में नज़र आ रही है।

Leave a Reply