जानिए…जल्द ही देश के किस बड़े नेता को होगी उम्रकैद की सज़ा!

Crime, News

वैसे तो हमारे देश के कई नेता चर्चाओं में रहते हैं। कोई अपनी भाषा को लेकर तो कोई भ्रष्टाचार या किसी न किसी बात को लेकर। आज हम बात कर रहे हैं ऐसे ही एक नेता कि जो बीते तीन सालों से चर्चाओं में हैं जी, हां हम बात कर रहे हैं जेएनयू छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार की। दिल्ली पुलिस ने जेएनयू में भारत विरोधी नारे लगाने के मामले में अपनी चार्जशीट दाखिल की है। बताया जा रहा है कि चार्जशीट में कन्हैया कुमार समेत 10 लोगों के नाम हैं। पटियाला हाउस कोर्ट में दाखिल की गई चार्जशीट पर सुनवाई 19 जनवरी तक टल गई है।

जेएनयू परिसर में 9 फरवरी 2016 को आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान कथित तौर पर भारत विरोधी नारे लगाने को लेकर 1200 पन्नों के चार्जशीट में यूनिवर्सिटी छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार, पूर्व छात्र उमर खालिद और अनिर्बान भट्टाचार्य अन्य को आरोपी बनाया गया है। बता दें कि कन्हैया कुमार, खालिद और भट्टाचार्य को मामले में गिरफ्तार किया गया था लेकिन बाद में उन्हें जमानत पर छोड़ दिया गया था।

मामले में कन्हैया कुमार ने आरोप पत्र को राजनीति करने कारार दिया। कन्हैया ने लोकसभा चुनाव से कुछ महीने पहले इसे दायर किए जाने पर इसके समय को लेकर सवाल उठाया। कन्हैया ने कहा कि मुझे कोई समन या अदालत से कोई सूचना नहीं मिली है।

पुलिस का दावा है कि उसके पास अपराध को साबित करने के लिए वीडियो क्लिप है। जिसकी गवाहों के बयानों से पुष्टि हुई है कि कन्हैया कुमार जुलूस की अगुवाई कर रहे थे और उन्होंने जेएनयू परिसर में देश विरोधी नारे लगाए जाने का कथित तौर पर समर्थन किया था। आपको बता दें कि राजद्रोह के लिए अधिकतम आजीवन कारावास की सजा का प्रावधान है।

Leave a Reply