Press "Enter" to skip to content

जज की बेटी का वकील से था अफेयर, पता चलने पर पिता ने किया…

Spread the love

बिहार के खगड़िया जिले में सेशन कोर्ट के जज द्वारा अपनी ही बेटी को बंधन बनाने का मामला सामने आया है। लीगल न्यूज वेबसाइट के मुताबिक जज की बेटी उसी कोर्ट के एक वकील के साथ रिलेशनशिप में है। इसी बात से गुस्साए जज सुभाष चंद्र चौरसिया ने 24 साल की लॉ ग्रेजुएट अपनी बेटी यशवनी के साथ पहले मारपीट की उसके बाद उसे बंधक बना दिया।

इस मामले के सामने आने के बाद पटना हाई कोर्ट ने इस पर संज्ञान लिया और सोमवार को सुनवाई करने का फैसला किया। मामले की सुनवाई चीफ जस्टिस राजेंद्र मेनन और राजीव रंजन प्रसाद की डिविजन बेंच करेगी। आपको बता दें बार ऐंड बेंच वेबसाइट की रिपोर्ट के मुताबिक, लड़की पटना की चाणक्य नैशनल लॉ यूनिवर्सिटी से एक लॉ ग्रैजुएट है, जिसका सुप्रीम कोर्ट के वकील सिद्धार्थ बंसल के साथ प्रेम संबंध होने की वजह से लड़की के पिता सुभाष चंद्र चौरसिया और परिवार वालों ने मारपीट की थी।

रिपोर्ट में बताया गया है कि, वह पहली बार 2012 में साकेत कोर्ट कॉम्प्लैक्स में इंटर्नशिप के दौरान सिद्धार्थ से मिली थी। इसके बाद यशस्विनी अपनी मां के साथ 6 मई को होने वाले दिल्ली जुडिशल सर्विस एक्जाम के लिए अपनी मां के साथ गई थी और अपने होटल के बाहर सिद्धार्थ से मिली थी।

minor girl molestation

अफेयर का पता चलने पर घर में हुई पिटाई

जब लड़की की मां को दोनों के अफेयर के बारे में पता चला तो बिना टेस्ट दिलाए ही यशस्विनी को लेकर खगड़िया वापस आ गई। रिपोर्ट के मुताबिक, खगड़िया पहुंचने पर लड़की के माता पिता ने यशस्विनी के साथ बुरी तरह मार-पीट की। यही नहीं उसके मोबाइल से सिद्धार्थ को कॉल कर उसकी पिटाई और रोने की आवाज तक सुना दी।

hospital are also not safe for girls

रिपोर्ट के मुताबिक, सिद्धार्थ अपने वरिष्ठ साथियों के साथ पिछले महीने खगड़िया आए थे और यशस्विनी के पिता से भी मुलाकात की थी। इस दौरान लड़की के पिता ने सिद्धार्थ से कहा सिविल सर्वेंट या जज बनने पर ही वह यशस्विनी से शादी करने लायक हो पाएंगे।

Father sold daqughter for 7 lakh rupees

डीजीपी से मिलकर युवती को बचाने की सिफारिश

इसके बाद सिद्धार्थ डीजीपी केएस द्विवेदी से मिले ताकि यशस्विनी को बचाया जा सके। डीजीपी ने इस मामले की पुष्टि करते हुए बताया कि पिछले महीने बेगूसराय में रिव्यू मीटिंग के दौरान वह एक दिल्ली के वकील से मिले थे। उन्होंने कहा, ‘खगड़िया एसपी मीनू कुमारी से मैंने मामले को देखने के लिए कहा है।’

CM Akhilesh Yadav and actor Akshay Kumar cannot helped the girl

वहीं खगड़िया की महिला पुलिस स्टेशन एसएचओ किरण कुमारी ने बताया है कि सिद्धार्थ ने लड़की को बचाने के लिए एक लिखित शिकायत दी है। एसएचओ ने कहा कि वह जज के आवास पर लड़की से मिली थीं। उसने मुझे बताया था कि वह खुश है।’

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.