पहले जय श्रीराम पर जेल, अब मोदी-मोदी पर FIR

Election, News

लोकसभा चुनाव के छठे और सातवें चरण के लिए प्रचार जोरों पर है। दल सभी चुनाव प्रचार में पूरी जी-जान झौंक रही हैं। लेकिन कुछ जगहों पर चुनाव प्रचार के दौरान कार्यकर्ताओं को नारेबाजी करना महंगा पड़ गया। बता दें कि कुछ दिन पहले पश्चिम बंगाल के चंद्रकोण में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी एक रैली में जा रही थीं। इस दौरान ‘जय श्री राम’ का नारा लगा रहे बीजेपी कार्यकर्ताओं को देखकर ममता ने अपना काफिला रोक लिया और कार से उतर गईं।

बता दें कि ममता बनर्जी ने बीजेपी कार्यकर्ताओं पर गाली देने का आरोप लगाया। ममता ने कहा कि बीजेपी पुरुषों को गलत व्यवहार करने के लिए भेजकर उनकी छवि खराब कर रही है। साथ ही, ममता ने बीजेपी कार्यकर्ताओं को चेतावनी देते हुए कहा कि उन्हें 23 मई के बाद (चुनाव के नतीजे) अंजाम भुगतना पड़ेगा। चुनाव ने नतीजे के बाद तो उन्हें यहीं रहना है। बता दें कि ममता ने इन लोगों के खिलाफ केस दर्ज करवाया। जिसके बाद जय श्री राम के नारे लगाने वालों को गिरफ्तार भी कर लिया गया था।

वहीं, प्रधानमंत्री मोदी ने पश्चिम बंगाल में चुनाव रैली को संबोधित करते हुए कहा कि दीदी इतनी बौखला गई हैं कि अब उन्हें भगवान की बात करना भी खटक रहा है। हालत तो यह है कि जय श्रीराम कहने वालों को दीदी गिरफ्तार करवाकर जेल भेज रही हैं। दीदी के इसी रवैये की वजह से पश्चिम बंगाल में लोगों को अपने हिसाब से पूजा पाठ करने, पूरी आजादी के साथ अपने व्रत, पर्व, त्योहार मनाने में दिक्कत हो रही है।

पश्चिम बंगाल के बाद ऐसा ही कुछ मध्य प्रदेश का राजधानी भोपाल में भी देखने को मिला। बता दें कि सोमवार को भोपाल से कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह ने कंप्यूटर बाबा के साथ मिलकर रोड शो किया। इस दौरान रोड शो में कथित तौर पर मोदी-मोदी के नारे लगाने लगे। जिसके बाद कुछ लोगों पर एफआईआर दर्ज की गई है।

Leave a Reply