जानिए…लोकसभा चुनाव 2019 में किन-किन नेताओं ने उगला ज़हर

Election, News

लोकसभा चुनाव 2019 को देश का ऐतिहासिक चुनाव माना जाएगा और माने भी क्यूं ना? क्योंकि चुनाव आयोग के सख्त आदेशों के बाद भी नेताओं जूबान इस कदर फिसली की, राजनीतिक नेता एक के बाद एक विवादित बयान देते गए। आज हम आपको ऐसी ही कुछ बयानों के बारे में बताएंगे। जिन्हें बोलते हुए नेताओं ने भाषा की सारी मर्यादाओं का लांघ दिया था। जब भी 2019 के लोकसभा चुनाव को याद किया जाएगा। तो साथ ही नेताओं के इन विवादित बयानों को भी याद किया जाएगा।

नवजोत सिंह सिद्धू

कांग्रेस के स्टार प्रचारक कहे जाने वाले नवजोत सिंह सिद्धू भोपाल लोकसभा सीट से कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह के लिए चुनाव प्रचार करने भोपाल पहुंचे थे। इस दौरान सिद्धू ने पीएम मोदी पर हमला बोलते हुए कहा था कि जब मैं जवान था, अभी भी जवान हूं…छक्का मारता था तो बॉल बाउंड्री पार…तुम मुझसे तगड़े हो भोपाल वालों, राजा भोज की नगरी वालों तुम मुझसे तगड़े हो…ऐसा छक्का मारो की मोदी हिंदुस्तान के बाहर मरे…वह मारा मोदी को बाहर उड़ा दिया।

योगी आदित्यनाथ

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मायावती के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि अगर विपक्ष को अली पसंद है, तो हमें बजरंग बली पसंद हैं. इसके बाद चुनाव आयोग ने सख्त कदम उठाए हुए योगी आदित्यनाथ पर भी 72 घंटे का बैन लगा दिया।

आजम खान

उत्तर प्रदेश की रामपुर लोकसभा सीट से सपा उम्मीदवार आजम खान ने बिना नाम लिए जया प्रदा पर हमला बोलते हुए कहा था कि ‘जिसको हम उंगली पकड़कर रामपुर लाए, आपने 10 साल जिनसे प्रतिनिधित्व कराया…उसकी असलियत समझने में आपको 17 साल लगे, मैं 17 दिन में पहचान गया कि इनका अंडरवियर खाकी रंग का है।’

साध्वी प्रज्ञा ठाकुर

बता दें कि एक्टर कमल हसन ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की हत्या करने वाले नाथूराम गोडसे को पहला हिन्दू आतंकी बताया गया था। इसके जवाब में साध्वी प्रज्ञा ने कहा था कि नाथूराम गोडसे देशभक्त थे, हैं और रहेंगे। हालांकि, साध्वी ने अपने इस बयान पर माफी भी मांगी थी। प्रज्ञा ठाकुर के इस बयान पर पीएम मोदी ने कहा कि इसकी जितनी निंदा की जाए उतना कम है। चाहे उन्होंने माफी मांग ली हो, लेकिन मैं मन से उन्हें कभी माफ नहीं कर पाऊंगा।’

गुड्डू पंडित

उत्तर प्रदेश के फतेहपुर सीकरी से बसपा उम्मीदवार गुड्डू पंडित ने भी आचार संहिता का उल्लंघन करते हुए कांग्रेस नेता राज बब्बर को लेकर विवादित टिप्पणी की थी। गुड्डू पंडित ने खुलेआम धमकी देते हुए कहा था कि सुन लो राज बब्बर के कुत्तों, तुमको और तुम्हारे नेता नचनिया को दौड़ा-दौड़ा के जूतों से मारूंगा, जो झूठ फैलाया समाज में। जहां मिलेगा, गंगा मां की सौगंध तुझे जूतों से मारूंगा, तुझे और तेरे दलालों को।

मायावती

बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा था कि भारतीय जनता पार्टी के लोग महिलाओं का सम्मान नहीं करते। यहां तक कि राजनीतिक स्वार्थ के लिए पीएम मोदी ने अपनी पत्नी को भी छोड़ दिया।

मल्लिकाजुर्न खड़गे

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकाजुर्न खड़गे ने प्रधानमंत्री मोदी पर विवादित बयान देते हुए कहा था कि जहां भी वो (मोदी जी) जाते हैं, कहते हैं कि कांग्रेस को लोकसभा में 40 सीटें भी नहीं मिल पाएंगी. क्या आप में से कोई भी इसे मानता है? अगर कांग्रेस को 40 से ज़्यादा सीटें मिल गईं तो क्या मोदी दिल्ली के विजय चौक पर फांसी लगा लेंगे?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूर्व पीएम राजीव गांधी पर बिना नाम लिए उनपर निशाना साधा। उन्होंने राजीव गांधी को भ्रष्टाचारी बताया और कहा कि उनकी ज़िंदगी का अंत “भ्रष्टाचारी नंबर एक” के तौर पर हुआ।

राहुल गांधी

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी प्रधानमंत्री मोदी पर राफेल सौदे में कथित रूप से भ्रष्टाचार करने के आरोप लगाते रहे हैं। वो अपनी हर रैली में ‘चौकीदार चौर है’ का नारा दोहराते हैं।

प्रियंका गांधी


प्रियंका गांधी ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि इस देश ने कभी अहंकार और घमंड को माफ नहीं किया है, इतिहास इसका गवाह है। ऐसा अहंकार दुर्योधन में भी था, उन्हें सच्चाई दिखाने के लिए भगवान कृष्ण समझाने गए तो दुर्योधन ने कृष्ण जी को भी बंधक बनाने की कोशिश की।

राबड़ी देवी


राबड़ी देवी ने कहा कि उन्होंने (प्रियंका गांधी) दुर्योधन बोलकर गलत किया। दूसरी भाषा बोलनी चाहिए थी। वो सब तो जल्लाद हैं, जल्लाद। जो जज और पत्रकार को मरवा देते हैं, उठवा लेते हैं, ऐसे आदमी का मन और विचार कैसे होंगे, खूंखार होंगे।

संजय निरुपम


जनसभा के दौरान संजय निरुपम ने कहा था कि वाराणसी के लोगों ने जिस व्यक्ति को चुना वो औरंगज़ेब के आधुनिक अवतार हैं क्योंकि यहां पर कॉरिडोर के नाम पर सैकड़ों मंदिरों को तुड़वाया गया और विश्वनाथ मंदिर में दर्शन के नाम पर 550 रुपए की फीस लगाई गई।

ममता बनर्जी


ममता बनर्जी चुनावी सिरगर्मियों के बीच पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के विवादित बयानों का सिलसिला लगातार जारी रहा। ममता बनर्जी ने पीएम मोदी पर विवादित बयान देते हुए कहा कि नरेंद्र मोदी वोट मांगने बंगाल आ रहे हैं, लेकिन लोग उन्हें कंकड़ भरे और मिट्टी से बने लड्डू देंगे, जिसे चखने के बाद उनके दांत टूट जाएंगे।

Leave a Reply