नोटबंदी से भारत की GDP में होगी गिरावट, दो बड़ी कंपनियों ने लगाया अनुमान

by Wikileaks4India Posted on 138 views 0 comments
HSBC and Citigroup given estimates of decline in GDP after Demonetization

नोटबंदी के 50 दिन के पूरे होने के बाद से लगातार बड़ी कंपनियां और रेटिंग फर्म एजेंसियां मोदी सरकार के नोटबंदी के फैसले से अर्थव्यवस्था की रफ्तार कम होने का आरोप लगा रही है। लेकिन केंद्र सरकार हैं कि मानती नहीं।

 

अब इस फेहरिस्त में एचएसबीसी और सिटी समूह का भी नाम जुड़ गया है। फाइनेंस सेक्टर की दो प्रमुख कंपनियों एचएसबीसी और सिटी समूह का अनुमान है कि नोटबंदी से भारत में कंज्यूमर मांग में कमी आई है और इसका असर सकल घरेलू उत्पाद यानी जीडीपी पर नकारात्मक पड़ेगा। एचएसबीसी और सिटी समूह ने जीडीपी के बारे में जो ताजा अनुमान जारी किए हैं वे सरकार के लगाए गए अनुमान से कम हैं।

hsbc.jpg

बता दें कि सरकारी निकाय केंद्रीय सांख्यिकी संगठन (सीएसओ) ने भी वित्त वर्ष 2016-17 में जीडीपी वृद्धि का अनुमान 7.6 फीसदी से घटाकर 7.1 फीसदी बताया है। जो सरकार के लिए चिंता का विषय है। वहीं पिछले हफ्ते स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने अपने एक सर्वे का हवाला देता हुए बताया था कि नोटबंदी की वजह से 2017 में आर्थिक रफ्तार सुस्त हो सकती है और रुपया कमजोर हो सकता है।

 

एचएसबीसी ने एक रिपोर्ट में जीडीपी में बढ़ोतरी वित्त वर्ष 2016-17 में सीएसओ के अनुमान से भी कम रहने की संभावना जताई है। एचएसबीसी ने रिपोर्ट में बताया है कि मौजूदा वित्त वर्ष में देश की जीडीपी वृद्धि दर 6.3 फीसदी रह सकती है।

 

इसी प्रकार सिटी समूह ने दिल्ली में जारी एक रिपोर्ट में कहा है कि नोटबंदी से खपत पर असर पड़ा है और इससे बनी असमंजस की स्थिति की वजह से निजी निवेश की रिकवरी में देरी हो सकती है। इसलिए वर्तमान वित्त वर्ष में जीडीपी की विकास दर 6.8 फीसदी रहने की संभावना है।

Comments

comments