Press "Enter" to skip to content

मोदी सरकार की नीतियों से भारतीय अर्थव्यवस्था में आई जबरदस्त उछाल, विश्व में तीसरा पायदान किया हासिल

Spread the love

भारत भले ही गरीबी, अपराध, बेरोजगारी, शिक्षा व स्वास्थ्य जैसी चुनौतियों का सामना कर रहा है। लेकिन इसके बाद भी अगर हम आपसे कहें कि भारत अरबपति की लिस्ट में कहीं आगे हैं तो? यकीन करना आपके लिए मुश्किल हो सकता है लेकिन दोस्तों यह सच है।  आपको बता दें कि भारत तीसरा सबसे ज्यादा अरबपतियों वाला देश है।

वहीं अगले दशक को देखते हुए बात करें तो इस एलीट क्लब में करीब 238 अल्ट्रा हाई नेट वर्थ इंडिविज्युअल्स जुड़ने की संभावना बनी हुई है। इस बात की पुष्टि अफ्रएशिया बैंक ग्लोबल वेल्थ माइग्रेशन रिव्यू की रिपोर्ट द्वारा सामने आई है।

इस रिपोर्ट के मुताबिक भारत में कुल 119 अरबपति हैं और साल 2027 तक यह संख्या 357 तक बढ़ने की संभावना लगाई जा रही है। अगले 10 सालों में जहां एक ओर भारत में 238 अतिरिक्त अरबपति जुड़ने वाले हैं वहीं, इसके पड़ोसी देश चीन में 448 ऐसे अरबपति जुड़ने की बात कही गई है। साल 2027 तक अमेरिका में सबसे ज्यादा संख्या में अरबपति होने की उम्मीद है जिसकी संख्या 884 तक पहुंच सकती है।

अमेरिका के बाद दूसरे नम्बर पर चीन जहां 697 और तीसरे पर भारत 357 के साथ हो सकता है। अरबपति या बिलिनेयर उन व्यक्तियों को कहते हैं जिनकी नेट एसेट एक अरब या इससे ज्यादा होती है। अन्य देश जहां पर अगले दशक तक अरबपति लोगों की संख्या में कुछ इजाफा हो सकता है उनमें रुस फेडरेशन (142), यूनाइटेड किंगडम (113), जर्मनी (90) और हॉन्ग कॉन्ग (78) शामिल हैं।

इस समय अगर दुनियाभर की बात करें तो करीब 2252 अरबपति हैं और साल 2027 तक यह संख्या 3444 तक बढ़ सकती है। टोटल वेल्थ के आधार पर हर देश में रहने वाले लोगों की निजी संपत्ति के मामले में भारत दुनिया का तीसरा सबसे अमीर देश है जिसकी कुल संपत्ति 8230 बिलियन डॉलर है।

More from InternationalMore posts in International »

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.