Press "Enter" to skip to content

इस गर्मी की छु्ट्टी सोच रहे हैं परिवार के साथ घूमने की तो सावधान क्योंकि इन देशों में महिलाएं बिल्कुल नहीं है सुरक्षित

Spread the love

दुनिया में आज भी ऐसे कई देश हैं जहां महिलाएं पूरी तरह से सुरक्षित नहीं है। जहां दुनिया इतनी तरक्की कर रही हैं उसके बाद भी इन देशों में महिलाओं की सुरक्षा अभी भी एक बड़ी समस्या है। इन खतरनाक देशों के कुछ हिस्से हैं जहां हर दिन महिलाओं के साथ बलात्कार किया जाता है, मानव तस्करी और घरेलू हिंसा का हिस्सा बन जाता है।

यहां हम आपको दुनिया के उन्हीं खतरनाक देशों की लिस्ट यहां बता रहे हैं जहां महिलाएं बिल्कुल भी सुरक्षित नहीं है यकीनन आप इन देशोें के बारे में  नहीं जाते होंगे।

कोलंबिया

यह शायद महिलाओं के लिए सबसे खतरनाक देश है क्योंकि यहां महिलाओं पर एसिड हमलों की रिकॉर्ड सबसे ज्यादा है और उनमें से ज्यादातर महिलाओं को इंसाफ भी नहीं मिल पाता है। कोलंबिया में साल 2015 में घरेलू हिंसा के करीब 45,000 मामले सामने आए थे।

अफगानिस्तान

इस देश में लगभग 87% महिलाओं की आबादी निरक्षर यानी अनपढ़ है और लगभग 70 -80 फिसदी महिला को शुरुआती 15-19 साल की उम्र में शादी के लिए मजबूर किया जाता है। इसमें 100,000 में 400 के मातृ मृत्यु दर के साथ घरेलू हिंसा के मामले हैं।

भारत

भारत की दुनिया में सबसे बड़ी आबादी है लेकिन फिर भी, यहां बलात्कार, घरेलू हिंसा और मानव तस्करी के साथ लड़की जन्म होने पर उसकी हत्या ये सभी वे कारण हैं जिनसे यहां महिलाएं बिल्कुल भी सुरक्षित नहीं है। आंकड़ों के अनुसार, पिछले 30 सालों में भ्रूण हत्या के मामले 50 मिलियन है।

कोंगो

रिसर्च के मुताबिक कोंगो में जेंडर बायस यानी लिंग के आधार पर भेदभाव व हिंसा का सबसे खराब रिकॉर्ड है। लगभग हर दिन 1,150 महिलाओं के साथ बलात्कार किया जाता है जो सालाना 420,000 तक हो जाता है। स्वास्थ्य पर भी अगर गौर करें तो वह भी बेहद खराब है, 57 प्रतिशत गर्भवती महिलाएं यहां एनीमिक यानी खून की कमी से जूझ रही होती हैं।

सोमालिया

यह एक ऐसा देश है जहां महिलाओँ के कानूनों और यौन उत्पीड़न, उच्च मातृ मृत्यु दर, बाल विवाह और मादा जननांग उत्परिवर्तन रोजाना की एक गंभीर समस्या है।

पाकिस्तान

शुरुआती उम्र और जबरन शादी, एसिड अटैक महिलाओं के लिए इस देश की मुख्य चिंता है। यहां महिलाएं सुरक्षित नहीं है क्योंकि 1,000 से अधिक महिलाएं हर साल ‘सम्मान हत्याओं’ के पीड़ित हैं, और 90% घरेलू हिंसा का सामना कर रही हैं।

केन्या

इस देश की महिलाओं को केवल कृषि उत्पादन की उच्च दर से होने वाली कमाई का एक छोटा सा हिस्सा मिलता है। लड़कियों की शिक्षा का स्तर काफी हैरान करने वाला हैं, उन्हें अपने समकक्षों के लिए निम्न स्तर पर पढ़ाया जाता है। एचआईवी की बीमारी वहां एक महिला के लिए काफी आम समस्या है क्योंकि उनके निजी जीवन पर कोई नियंत्रण नहीं है।

ब्राजील

एक रिसर्च से पता चलता है कि हर 15 सेकंड में महिला का यौन उत्पीड़न होता है और हर 2 घंटे में एक महिला की हत्या की जाती है। महिलाओं को प्रजनन अपनी इच्छा मुताबिक करने की इजाजत नहीं है क्योंकि बलात्कार के मामलों को छोड़कर इसके आपराधिक कोड गर्भपात पर प्रतिबंध लगाते हैं, या जहां बच्चे को शारीरिक रूप से खतरनाक है। जो महिलाएं गर्भपात करती हैं उन्हें 3 साल तक जेल भेजा जा सकता है।

इजिप्ट

यौन उत्पीड़न और प्रताड़ित करना इतना आम है कि यहां बाहर से आने वाले लोगों ने भी इस तरह के अपराधों में शामिल रहे हैं। शादी, तलाक, बाल हिरासत और विरासत के अधिकारों की बात आती है तो यहां महिलाओं को नजरअंदाज कर दिया जाता है।

मौक्सिको

साल 2011-2012 में यहां 4,000 महिलाओं के गायब होने का मामला आया था। महिलाओं को कानूनी व्यवस्था से नीचे छोड़ दिया जाता है, जो घरेलू और यौन हिंसा को लेकर बिल्कुल भी सुरक्षित नहीं है।

More from InternationalMore posts in International »

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.