Press "Enter" to skip to content

ये बड़ा उद्योगपति रेपिस्टों को फांसी पर चढ़ाने के लिए बनना चाहेगा जल्लाद

उन्नाव और कठुआ में दोनों बच्चियों के साथ हुए गैंगरेप की घटना ने पूरे देश को हिला कर रख दिया है। देश का हर एक इंसान पीड़िताओं को इंसाफ दिलवाने के लिए अपनी तरफ से सारी कोशिशे कर रहा है और अपनी आवाज और भी ज्यादा बुलंद कर रहा है। इसके साथ ही हर एक इंसान की मांग है कि आरोपियों को जल्दी से सख्त कार्रवाई करते हुए फांसी की सजा दी जाए। इन घटनाओं से आहत होकर महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा ने भी अपने ट्विटर पर गुस्सा जाहिर किया है।

आपको बता दें कि आनंद महिंद्रा ने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा कि जल्लाद की नौकरी एक ऐसी नौकरी होती है जो कोई नहीं करना चाहता, लेकिन अगर रेप करने वाले हैवानों को और छोटी बच्चियों को मारने वाले लोगो को फांसी पर चढ़ाने की बात होगी तो मैं इस नौकरी को खुशी से करना चाहूंगा। मैं बहुत कोशिश करता हूं कि शांत रहूं, लेकिन अपने देश में इस तरह की दरिंदगी को देखकर मेरा खून खौलता है। गौरतलब है कि इन दोनों घटनाओं को लेकर पूरे देश में सभी लोग अलग अलग तरह से प्रदर्शन कर रहे हैं। मुंबई से लेकर दिल्ली तक देश के हर बड़े शहर में समाज के कई लोग विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।

इतना ही नहीं रविवार के दिन भी उन्नाव और कठुआ गैंगरेप को लेकर उसका विरोध करने के लिए सिविल सोसायटी के लोगों ने भी दिल्ली के जंतर-मंतर में जाकर विरोध-प्रदर्शन किया। इस विरोध प्रदर्शन में कई लोग शामिल हुए। आपको बता दें कि इस प्रदर्शन में पुरुष, महिला, थर्ड जेंडर, छात्र, वरिष्ठ नागरिकों समेत छोटे-छोटे बच्चे भी शामिल हुए। इन सभी लोगों ने मांग की थी कि उन्नाव और कठुआ घटना में शामिल सभी लोगों को सख्त सजा दी जाए।

इस प्रदर्शन में देश के विभिन्न हिस्सों और विश्वविद्यालयों- जवाहर लाल यूनिवर्सिटी, दिल्ली यूनिवर्सिटी, अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के छात्र और शिक्षक पहुंचे हैं। इनके अलावा सुप्रीम कोर्ट के कई वकील भी इस विरोध प्रदर्शन में हिस्सा लेने पहुंचे।

More from NationalMore posts in National »

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.