कांग्रेस के बयानों को मिल रहा है आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा का समर्थन, पढ़िए पूरी खबर

जम्मू-कश्मीर में सेना द्वारा की गई कार्रवाई और राज्य की आजादी पर कांग्रेस पार्टी के दो वरिष्ठ नेताओं के बयान से देश में काफी बवाल मच गया है। जिससे पार्टी के लिए मुश्किल खड़ी हो गई है। सत्ता पर बैठी बीजेपी ने जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम  गुलाम नबी आजाद के सैन्य ऑपरेशन में आतंकवादी से ज्यादा आम लोगों के मारे जाने वाले बयान की कड़ी आलोचना करते हुए कांग्रेस पर निशाना साधा है।

बीजेपी के वरिष्ठ नेता रविशंकर प्रसाद ने आजाद के इस बयान की आलोचना कर इसे गैर जिम्मेदाराना, शर्मनाक और सेना का मनोबल तोड़ने वाला बताया और कहा कि पूर्व सीएम की इस टिप्पणी से सबसे ज्यादा खुश पाकिस्तान होगा।

रवि शंकर प्रसाद ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा,

‘आजाद की यह टिप्पणी दुर्भाग्यपूर्ण है। वह क्या कहना चाहते हैं? वह क्या संकेत दे रहे हैं? कांग्रेस पार्टी देश तोड़ने वालों के साथ खड़ी हो गई है। कांग्रेस का ऐसा नेता यह बयान दे रहा है जो जम्मू-कश्मीर का सीएम रह चुका है, जिसने कश्मीर में आतंकवाद के दंश को झेला है। सीमा पर सेना और सुरक्षाबलों के जवान ही शहीद होते हैं।’

आगे प्रसाद ने कहा कि,

आजाद के बयान का लश्कर-ए-तैयबा जैसे संगठन भी समर्थन कर रहे हैं। लश्कर का प्रवक्ता अब्दुल्ला गजनवी ने बयान जारी कर कहा, ‘हमारा विचार भी आजाद के विचार की तरह ही है।’ सेना चीफ बिपिन रावत और रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण के शहीद औरंगजेब के घर जाने को आजाद ड्रामा बताते हैं। इससे खराब बात और क्या हो सकती है।

सोज के बयान पर राहुल-सोनिया से मांगा गया जवाब

बीजेपी नेता ने पूर्व केंद्रीय मंत्री सैफुद्दीन सोज द्वारा किए गए कश्मीर की आजादी वाले बयान पर भी हमला बोला, उन्होंने कहा कि,

कांग्रेस चीफ राहुल और सोनिया इस बयान पर जवाब दें। आपको बता दें कि सोज ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि कश्मीर के लोगों की पहली प्राथमिकता आजादी पाना है। सोज ने कहा कि वर्तमान स्थिति में कश्मीर की आजादी इससे जुड़े देशों के कारण संभव नहीं है, लेकिन यह जरूर है कि कश्मीर के लोग पाकिस्तान के साथ इसका विलय नहीं कराना चाहते हैं।

opposition in parliament

‘देशविरोधियों के साथ खड़ी हुई कांग्रेस’

रविशंकर ने आगे कहा कि, कांग्रेस देशविरोधियों के साथ खड़ी हो गई है। राहुल जेएनयू में जाकर राष्ट्रविरोधी ताकतों के साथ खड़े हो जाते हैं। सर्जिकल स्ट्राइक पर खून की दलाली का बयान देते हैं। कांग्रेस का आज का नेतृत्व केवल नरेंद्र मोदी विरोध और बीजेपी का विरोध कर रही है।’

जानिए, क्या कहा था गुलाम नबी आजाद ने अपने बयान में

कुछ दिन पहले ही आजाद ने कहा था कि, केंद्र सरकार की दमनकारी नीति का सबसे ज्यादा नुकसान आम जनता को भुगतना पड़ता है। एक आतंकी को मारने के लिए 13 नागरिकों को मार दिया जाता है। हाल के आंकड़ों पर गौर करें तो सेना की कार्रवाई नागरिकों के खिलाफ ज्यादा और आंतकियों के खिलाफ कम हुई है। घाटी में हालात बिगड़ने का मुख्य कारण यह है कि मोदी सरकार बातचीत करने की अपेक्षा कार्रवाई करने में ज्यादा यकीन रखती है। ऐसा लगता है कि वे हमेशा हथियार इस्तेमाल करना चाहते हैं।’

  • Show Comments (0)

Your email address will not be published. Required fields are marked *

comment *

  • name *

  • email *

  • website *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

You May Also Like

muslim man wants modi sarkar to stay for 110 years

मुस्लिम कलाकार के सिर चढ़कर बोला पीएम मोदी का जादू, चाहता है 110 साल बनी रहे मोदी सरकार!

लखनऊ में रहने वाले कलाकार जुल्फीकार हुसैन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन की ...

loky ransomware cyber attack government alert people

एक बार फिर हुआ देश में साइबर अटैक, सरकार ने जारी किया अलर्ट

पिछले कुछ टाइम पहले साइबर अटैक में रैंसमवेयर वायरस के हमले के बाद एक बार ...

in odisha successful missile agni 2

भारतीय सेना ने किया अग्नि-2 मिसाइल का सफल परिक्षण, 2000 किमी से भी ज्यादा दूरी पर वार करने की क्षमता

भारतीय सेना की स्ट्रैटेजिक फोर्स कमांड ने आज मंगलवार को ओडिशा के अब्दुल कलाम ...

nupur and rajesh talwar can be released today

आज रिहा हो सकती है तलवार दंपति, जानें कैसा रहा जेल की सलाखों के पीछे का सफर!

देश के सबसे चर्चित हत्याकांड आरुषि-हेमराज मर्डर केस में करीब चार साल से जेल ...

salary will deduct for not taking care of parents

अगर अब नहीं रखा मां-बाप का ध्यान तो कटेगी सैलरी!

आप इसे सरकारी कर्मियों पर नकेल भी कह सकते हैं और अपने बच्चों द्वारा ...