Press "Enter" to skip to content

देखिए कर्नाटक में किसका नाटक होगा खत्म

कर्नाटक विधानसभा चुनाव के लिए मतगणना शुरु हो चुकी है। दोनों ही दलों में कांटें की टक्कर चल रही है। शुरुआती रुझानों में पहली बार बीजेपी को बढ़त मिल सकी है और एक घंटे से कांग्रेस की बढ़त पीछे हो गई है। फिलहाल बीजेपी 77, कांग्रेस 67 और जेडीएस 25 सीटों पर आगे चल रही है।

वहीं शिकारीपुरा सीट से बीएस येद्दियुरप्पा और रामनगर से कुमार स्वामी आगे चल रहे हैं। तो वहीं बादामी सीट से सिद्दरमैया आगे और चामुंडेश्वरी सीट से पीछे चल रहे हैं। दावणगेरे से खड़गे के बेटे पीछे चल रहे हैं।

224 सदस्यों की विधानसभा की 222 सीटों पर शनिवार को मतदान हुआ था। इस चुनाव में मुख्य मुकाबला बीजेपी और कांग्रेस के बीच में है। लेकिन किंगमेकर जेडीएस बन सकती है। मतदान के बाद विभिन्न चैनलों पर प्रसारित एग्जिट पोल में त्रिशंकु विधानसभा की संभावना व्यक्त की गई है। ऐसी स्थिति में अगली सरकार के गठन में जेडीएस की भूमिका अहम हो सकती है।

बीजेपी को बहुमत मिलने पर येद्दियुरप्पा होंगे कर्नाटक के अगले सीएम

बीजेपी अगर बहुमत का आंकड़ा हासिल करने में कामयाब होती है तो साफतौर पर बीएस येद्दियुरप्पा ही अगले मुख्यमंत्री होंगे। लेकिन साल 2019 के लोकसभा चुनावों के मद्देनजर पार्टी किसी दलित चेहरे को उपमुख्यमंत्री भी बना सकती है। अगर दो-चार सीटें कम पड़ीं तो निर्दलीय विधायकों का समर्थन जुटाया जा सकता है।

कांग्रेस को बहुमत मिलने पर सिद्दरमैया होंगे राज्य के सीएम

कांग्रेस को बहुमत मिला तो इस बात में कोई संदेह नहीं है कि सिद्दरमैया ही राज्य के मुख्यमंत्री बने रहेंगे। ऐसे में दलित मुख्यमंत्री की मांग करने के मद्देनजर पार्टी किसी दलित को उपमुख्यमंत्री बना सकती है। एक संभावना किसी लिंगायत को उपमुख्यमंत्री बनाने की भी है। अगर पार्टी बहुमत के आंकड़े से दो-चार सीटें पीछे रह गई तो निर्दलीय विधायक ही उसका सहारा बनेंगे।

जेडीएस निभाएगी अहम भूमिका

त्रिशंकू निधानसभा की स्थिति में बीजेपी और कांग्रेस को सरकार बनाने के लिए उन्हें अगर 20 सीटों के करीब की जरूरत पढ़ती है तो वो सीटें उन्हें जेडीएस से लेनी पड़ेंगी। तो जेडीएस की जरूरत सरकार बनाने के लिए पड़ेंगी।

More from NationalMore posts in National »

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.