100 दिन और समीर दौड़ गया 10 हजार किमी, बना दिया विश्व रिकॉर्ड

by Taranjeet Sikka Posted on 0 views 0 comments
new world record created by sameer

100 दिन तक दौड़ लगाकर मध्य प्रदेश के रहने वाले समीर जब मुंबई पहुंचे तब तक वो एक विश्व रिकॉर्ड बना चुके थे। 42 साल के समीर ने रोज 100 किलो मीटर दौड़कर 10,000 किलो मीटर की दूरी तय की और एक इतिहास रच दिया। समीर ने 29 अप्रैल को दौड़ना शुरु किया था। और 100 दिन तक वो लगातार दौड़ते रहे।

 

1972 में मंदसौर के गांव कान्याखेड़ा में जन्मे समीर ने कहा कि वह बचपन में अपने दोस्तों को छेड़कर भाग जाते थे, तो कोई उन्हें पकड़ ही नहीं पाता था। उसी वक्त अंदाजा हो गया था कि वो दौड़ने के लिए ही पैदा हुए हैं। समीर बताते हैं कि 2004-05 में उन्होंने पहली मैराथन रेस में हिस्सा लिया था। इससे पहले तक उन्होंने मैराथन का नाम भी अपनी जिंदगी में नहीं सुना था। जब उन्हें पता चला कि इसमें अच्छे पैसे मिलते हैं तो समीर मुंबई चले आए।

 

समीर ने कहा कि 2008 में केन्या के रेसर को देखा तो लगा उन्हें हराना असंभव है। तब उन्होंने रेस की दूरी बढ़ाने का फैसला किया। फिर उन्हें अमेरिका की सेल्फ ट्रांसेंडेंस 3100 माइल रेस के बारे में पता चला। इस दूरी को तय करने में सेल्फ ट्रांसेंडेंस ने 52 दिनों का वक्त लिया। जिसके बाद समीर ने तय किया कि वो इससे दोगुना दौड़ेंगे। पिछले साल समीर ने 100 दिनों में 10 हजार किलोमीटर दौड़ने की योजना बनाई और अपने गुरु इस्कॉन टेंपल के राधिका कन्हाई प्रभु जी के पास गए। उन्होंने समीर से वृंदावन जाने के लिए कहा और बोले कि वहां रुकने-खाने की व्यवस्था हो जाएगी।

 

समीर नवंबर 2016 में वृंदावन चला गया। वहीं से समीर ने दौड़ की प्रेक्टिस करनी शुरु कर दी। शुरुआत में 10 किमी दौड़कर शहर की परिक्रमा, फिर राधाकुंड तक 21 किमी, वहां से गोवर्धन की 24 किमी की परिक्रमा और फिर 21 किमी की वापसी। यानी की समीर रोज 75 किमी की दौड़ लगाने लगा। पहले हफ्ते में दो-तीन दिन और बाद में हफ्ते में 6 दिन तक बढ़ा लिया। यह सिलसिला इस साल 22 मार्च तक चला। फिर समीर मुंबई लौट आया। आखिरकार समीर ने नर्णय लिया कि वो 29 अप्रैल को दौड़ शुरू करेगा जिसके बाद समीर ने 100 दिन में 10 हजार किलोमीटर की दौड़ पूरी कर ली।

 

समीर ने जब मुंबई की सड़कों पर हर रोज 100 किलोमीटर की दौड़ शुरु की तो उन्हें देखने वाले हैरान रह गए। उनकी इस दौड़ में कई लोग हिस्सा भी बने जो बीच बीच में उनके साथ दौड़ लगाने लगते थे। इसके लिए बकायदा सोशल मीडिया पर ‘The Faith Runner’ के नाम से कैंपेन भी शुरु किया गया।

Comments

comments