Press "Enter" to skip to content

जम्मू-कश्मीर में आतंकियों की सफाई के लिए सेना को मिलने जा रहा है ये बड़ा समर्थन…

Spread the love

जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों को रोकने के अभियान में आवश्यकता के अनुसार सक्रिय भूमिका निभाने के लिए नेशनल सिक्योरिटी गार्ड के एक दस्ते को घाटी में पहुंचा दिया गया है। ये दस्ता श्रीनगर एयरपोर्ट के पास सीमा सुरक्षाबल के एक प्रशिक्षण केंद्र में पुलिस, सीआरपीएफ और बीएसएफ से चुने गए जवानों के साथ आतंकरोधी अभियानों के अभ्यास में जुटा है।

एनएसजी को जम्मू कश्मीर में आतंकियों से निपटने के लिए तैनात करने की योजना पिछले साल ही बना ली गई थी। इस प्रस्ताव पर औपचारिक मुहर मई में गृह मंत्रालय द्वारा लगाई गई है। संबंधित अधिकारियों का कहना है कि एनएसजी कमांडो का एक दस्ता पूरी तरह से जम्मू कश्मीर पुलिस के अधीन रहेगा, क्योंकि आतंकरोधी अभियानों के संचालन की नोडल संस्था राज्य पुलिस ही है। स्थानीय हालात से अवगत होने के लिए और बाकी सुरक्षा एजेंसियों के काम करने के तौर तरीकों को समझने के बाद ये दस्ता सक्रिय रूप से आतंकियों के खिलाफ अभियानों में शामिल होंगे।

जम्मू कश्मीर में एनएसजी के कमांडो 1990 के दशक में भी आतंकरोधी अभियानों के लिए आ चुके हैं, लेकिन एनएसजी को राज्य में आतंकरोधी अभियानों के लिए स्थायी तौर पर पहली बार तैनात किया गया है। संबंधित अधिकारियों ने बताया है कि एनएसजी कमांडो हाउस इंटरवेंशन और एंटी हाईजैकिंग में विशेष रूप से तैयार किया गया है। इसलिए इन्हें श्रीनगर एयरपोर्ट के पास ही रखा जा रहा है।

अत्याधुनिक हथियारों से लैस

श्रीनगर में आए एनएसजी कमांडो अत्याधुनिक हैकलर, कोच एमपी-5 सब मशीनगन, स्नाइपर राइफल और दीवार के आरपार देखने वाले राडार और सी-4 विस्फोटों से लैस हैं।

विशेष ऑपरेशन में लेंगे हिस्सा

एनएसजी कमांडो को हर आतंकरोधी अभियान में हिस्सा नहीं बनाया जाता है, बल्कि इन्हें विशेष परिस्थितियों में ही शामिल किया जाता है। खासकर जब किसी बड़ी इमारत में आतंकी घुसे हों या आबादी वाले इलाके में कोई ऑपरेशन करना होता है।

ब्लू स्टार के बाद हुआ था एनएसजी का गठन

एनएसजी का गठन साल 1984 में ऑपरेशन ब्लू स्टार के बाद किया गया था। गुजरात के अक्षरधाम मंदिर पर हुए आतंकी हमले के अलावा मुंबई हमलों और पठानकोट एयरबेस पर आतंकी हमले के समय भी एनएसजी कमांडो की सेवाएं ली गई थीं। इस वक्त में एनएसजी में 7500 अधिकारी और जवान मौजूद हैं।

More from NationalMore posts in National »

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.