न्यायालय को कटरे में खड़ा करने वाले जज चेलमेश्वर आज हो रहे हैं रिटायर, जानिए उनसे जुड़ी खास बातें

न्यायालय को कटरे में खड़ा करने वाले जज चेलमेश्वर आज हो रहे हैं रिटायर

चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया दीपक मिश्रा के खिलाफ तीन अन्य जजों के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस करनेवाले सुप्रीम कोर्ट के सबसे वरिष्ठ न्यायाधीश जस्टिस जे. चेलमेश्वर आज रिटायर हो रहे हैं। सुप्रीम कोर्ट में सात सालों के अपने कार्यकाल में रहने के बाद में रहने के बाद आज शुक्रवार को रिटायर हो रहे हैं।

केस चयन प्रक्रिया को लेकर उठाए थे सवाल

एम.बी. लोकुर और कुरियन जोसफ के साथ मिलकर उन्होंने अदालत में केसों के चयन प्रक्रिया और 1 दिसंबर 2014 को सीबीआई के स्पेशल जज बी.एच. लोया की मौत के संवेदनशील मामलों पर सवाल खड़े किए थे। इसी की पहल से 12 जनवरी को की गई प्रेस कॉन्फ्रेंस में सुप्रीम कोर्ट के इतिहास में पहली बार इस तरह की घटना हुई थी जहां कोर्ट से लेकर पूरा देश तक हैरान रह गया था।

एनजेएसी को खारिज करने वाली बैंच में रहे हैं जस्टिस चेलमेश्वर

जस्टिस चेलमेश्वर ने तत्कालीन मुख्य न्यायाधीश जस्टिस टीएस ठाकुर और जेएस खेहर के समय में कोलेजियम की बैठकों का बहिष्कार किया था। उन्होंने पब्लिकली कहा था कि, जब तक कोलेजियम (सीजेआई समेत पांच वरिष्ठतम जजों का चयन मंडल) की बैठकों का एजेंडा सदस्य जजों को नहीं बताया जाएगा वह कोलेजियम में नहीं आएंगे।

इस विरोध को देखते हुए ही मौजूदा सीजेआई दीपक मिश्रा ने कोलेजियम के फैसलों को सार्वजनिक करना शुरू किया था। इस घटना को भी सुप्रीम कोर्ट के इतिहास में बड़ी घटना के रुप में देखा गया था, क्योंकि 1993 में कोलेजियम व्यवस्था के अस्तित्व में आने के बाद यह पहली बार ऐसा था जहां फैसलों को खुले तौर पर सार्वजनिक किया गया।

जानिए कौन है जस्टिस जे. चेलमेश्वर

चेलमेश्वर उन न्यायाधीशों की पीठ का हिस्सा रहे हैं जिन्होंने ऐतिहासिक फैसले में निजता के अधिकार को मौलिक अधिकार बताया था। वह जस्टिस जे एस खेहर की अध्यक्षता वाली पांच न्यायाधीशों की उस पीठ का भी हिस्सा थे जिसके द्वारा सुप्रीम कोर्ट में नियुक्ति से संबंधित राष्ट्रीय न्यायिक नियुक्ति आयोग (एनजेएसी) को निरस्त किया था।

वह तीन मई 2007 को गौहाटी हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश के रुप में नियुक्त किए गए थे और बाद में केरल हाई कोर्ट में ट्रांसफर किए गए थे। न्यायमूर्ति चेलमेश्वर 10 अक्तूबर 2011 को हाई कोर्ट के जज बने थे।

  • Show Comments (0)

Your email address will not be published. Required fields are marked *

comment *

  • name *

  • email *

  • website *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

You May Also Like

अंबानी ने दी सबको मात, एशिया के सबसे अमीर आदमी बने

मुकेश अंबानी के बारे में तो पूरा देश अच्छे से जानता है और अंबानी ...

wikileaks4india exclusive interview of shahnawaz hussain

WikiLeaks4India Exclusive: पंचकूला कांड में बीजेपी के प्रवक्ता जवाब देने से भागते नजर आए

एक तरफ जल रहा था पूरा पंचकूला, सुरक्षाबल लाखों की तदाद में जुटी भीड़ ...

मोदी सरकार के इस नियम से आपको होगा 40 हजार रुपए तक का फायदा

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बजट में टैक्स स्लैब में बिलकुल कटौती नहीं की ...

army chief launches whatapp number for soldier direct complaint

सेना प्रमुख ने वाट्सऐप नंबर किया जारी,अब जवान सीधे कर सकेंगे शिकायत

भारतीय सेना ने अपने सैनिकों की समस्याओं के लिए एक वाट्सऐप नंबर जारी किया ...

haryana-rape-was-committed-in-murthal-hc-bench

जाट आंदोलन के दौरान मुरथल में हुए थे रेप, आरोपियों को जल्द पकड़े SIT: हाईकोर्ट

हरियाणा में जाट आंदोलन के दौरान मुरथल में हुई रेप की घटनाओं को सच ...