राष्ट्रपति चुनाव के बाद अपना इस्तीफा दे सकते हैं तेजस्वी!

by Priyanka Bhalla Posted on 299 views 0 comments
tejaswi might give resignation after president election

बिहार में आरजेडी और जेडीयू के महागठबंधन में दरार बढ़ती ही नजर आ रही है। जहां एक तरफ दोनों पार्टियों के नेता अपने अपने फैसलों पर अड़े हैं। आपको बता दें कि आरजेडी ने स्पष्ट कहा है कि तेजस्वी यादव किसी भी स्थिति में इस्तीफा नहीं देंगे। तो वहीं नीतीश कुमार भ्रष्टाचार के मामले में इस्तीफे से कम पर राजी नहीं हो रहें हैं।




 

आज देश के नए राष्ट्रपति के चुनाव लिए वोट डाले जाएंगे ऐसे में आज सबकी निगाहें राष्ट्रपति चुनावों पर ही टिकी हुई है। लेकिन वहीं राजनीति के मैदान में सबकी नजरें बिहार पर भी उतनी ही टिकी होंगी। मीडिया खबरों की माने तो राष्ट्रपति चुनाव खत्म होने के बाद बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के बारे में फैसला किए जाने के आसार है। ऐसा माना जा रहा है कि नीतीश कुमार तेजस्वी को बर्खास्त कर सकते हैं या फिर तेजस्वी को इस्तीफा देना पड़ सकता है।




 

तेजस्वी यादव के खिलाफ दर्ज हुई FIR से शुरू हुआ राजनीतिक संकट जल्द ही कोई नया मोड़ ले सकता है। सूत्रों के मुताबिक़ लालू प्रसाद की पार्टी आरजेडी और नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू, दोनों ही इस मामले में कोई फैसला करने के लिए राष्ट्रपति चुनाव खत्म होने का ही इंतजार कर रहे हैं।




 

इसी बीच रवीवार को आरजेडी के प्रवक्ता मनोज झा ने तेजस्वी यादव का जमकर बचाव किया, उन्होंने  कहा, ‘सीबीआई, ईडी और आईटी  तीनों एजेंसियां भाजपा के पते से चल रही हैं। नीतीश की छवि है तो तेजस्वी की भी छवि है, पौने दो साल में एक भी आरोप नहीँ है। नीतीश जी गंभीर आदमी हैं वो तेजस्वी पर लगे आरोपों की सच्चाई जानते हैं।

 

खुद तेजस्वी यादव जब मीडिया के कैमरे के सामने आये तो देश में इमरजेंसी जैसे माहौल का हवाला देकर विपक्षी एकता की बात करते रहे और साथ ही उन्होंने इस्तीफे से जुड़े सवालों को टाल दिया।

 

वहीं जहां महागठबंधन में शामिल तीसरी पार्टी कांग्रेस भी यही चाहती थी कि राष्ट्रपति चुनाव तक कोई बड़ा फैसला न हो। लेकिन अब सबकी नजरें इस बात जरूर होगी कि राष्ट्रपति चुनाव खत्म होने के बाद कांग्रेस क्या करती है? कांग्रेस भी अभी तक यही कहती आई है कि बिहार में महागठबंधन हर हाल में कायम रहना चाहिए। कांग्रेस भले ही नीतीश-लालू को साथ में देखना चाहती हो, लेकिन क्या इसके लिए वो लालू यादव को बेटे का इस्तीफा दिलाने के लिए तैयार कर पायेगी?

 

Comments

comments