Press "Enter" to skip to content

स्वाति मालीवाल की केजरीवाल से गुहार, कहा ‘दिल्ली पुलिस से बचाइए हमें..’

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल का आज चौथे दिन भी अनशन जारी है। सोमवार को मालीवाल ने दिल्ली पुलिस पर अनशन तुड़वाने का आरोप लगाया, जिसके साथ ही मालीवाल ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से मदद की गुहार लगाई है। मालीवाल यहां राजघाट पर अनशन कर समता स्थल पर बलात्कारियों को फांसी की सजा दिलाने वाले कानून की मांग कर रही हैं।

स्वाति मालीवाल ने ट्वीट कर सीएम अरविंद केजरीवाल को बताया कि डीसीपी, एसीपी और डॉक्टर उन्हें परेशान कर रहे हैं। स्वाति ने लिखा ट्वीट कर लिखा, “मेरा कीटोन लेवल 2 है, जोकि कुछ भी नहीं। रविवार को फर्जी मेडिकल रिपोर्ट दिखाने की भी कोशिश हुई। मैं राजघाट पर हूं, जहां से मुझे पुलिस जबरदस्ती हटाने की कोशिश कर रही है। सर, मेरी सुरक्षा कीजिए।”

आपको बता दें कि इस पर मालीवाल अनशन खत्म करने को तैयार नहीं है। उन्होंने पीएम को खत लिख कहा,  जब रातों-रात नोटबंदी की जा सकती है, तो फिर रातों-रात महिलाओं की सुरक्षा के लिए प्रधानमंत्री कड़े कदम क्यों नहीं उठाते? मालीवाल ने कहा कि पीएम अपनी और पुलिस की जितनी ऊर्जा उनका अनशन तुड़वाने में लगा रहे हैं, उससे आधी ऊर्जा अगर महिलाओं के हित में लगाएं, तो देश सुधर जाएगा।

पीएम को भेजे गए उनके खत को अनशन स्थल से पढ़कर सुनाया गया। इसमें स्वाति मालीवाल ने लिखा कि अपने अनशन के चौथे दिन राजघाट आई हूं। यहां भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है। जब 73 साल के अन्ना हजारे और सुगर के मरीज अरविंद केजरीवाल अनशन कर सकते हैं, तो फिर एक महिला के अनशन को खत्म करने की कोशिश क्यों कि जा रही है? पीएम साहब आप लंदन चले गए और हम यहां बेटियों के लिए लड़ रहे हैं’

दिल्ली महिला आयोग ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से यहां अपील की है कि वो एक मेडिकल टीम बनाएं, जो अनशन के दौरान तय पैरामीटर पर मेडिकल टेस्ट करे। स्वाति का आरोप है कि दिल्ली पुलिस को अनशन खत्म करवाने के लिए पीएमओ से सीधे आदेश मिले हैं।

इसके जवाब में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट किया, “स्वाति मालीवाल हमारी बच्चियों की सुरक्षा के लिए लड़ रही हैं। हम सभी को इनका समर्थन करना चाहिए। मैं गृहमंत्री राजनाथ सिंह और एलजी अनिल बैजल से अपील करता हूं कि वो दिल्ली पुलिस को परेशान न करने का आदेश दें। एलजी और गृहमंत्री को महिला सुरक्षा के लिए कदम उठाना चाहिए।

More from NationalMore posts in National »

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.