…लो एक बार फिर से आ गई ‘मोदी सरकार’!

Election, News

लोकसभा चुनाव 2019 में विपक्षी दल बीजेपी को सत्ता से बेदखल करने के लिए पूरी जी-जान झौंक रहे हैं। तो वहीं, बीजेपी भी जनता को लुभाने के लिए नई-नई योजनाएं लाई। विपक्षी नेता प्रधानमंत्री मोदी की जमकर आलोचना कर रहे हैं। लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रशसंकों भी कमी नहीं है। सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी प्रधानमंत्री मोदी के चाहने वाले हैं। जिसके पीछे है पीएम मोदी की जनता के लिए लाई गई योजनाएं।

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना: केंद्र सरकार की प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना (PMUY) से कमजोर वर्ग के परिवारों खासकर महिलाओं को बहुत राहत मिली है। इस योजना को 1 मई 2016 को उत्तर प्रदेश के बलिया में लॉन्‍च किया गया था। PMUY के तहत सरकार गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले परिवारों को घरेलू रसोई गैस (एलपीजी (LPG) गैस) का कनेक्शन दिया गया।

स्वच्छ भारत अभियान: मोदी सरकार ने स्वच्छ भारत योजना के जरिए देश की जनता को स्वचछता के प्रति जागरूक करने में सफलता हासिल की। यह संदेश दिया गया कि सफाई सरकार की नहीं जनता की भी जिम्मेदारी है। पीएम मोदी ने अपने कार्यकाल के पहले साल से ही इसकी शुरुआत की थी। स्वच्छ भारत मिशन के तहत देश भर में सवा सात करोड़ टॉयलेट बनाने का सरकार ने दावा किया। जिससे खुले में शौच रोकने की दिशा में सफलता मिली। 2 अक्टूबर 2014 को देश भर में एक राष्ट्रीय आंदोलन के रूप में स्वच्छ भारत मिशन की शुरुआत हुई थी। पीएम मोदी ने खुद  मंदिर मार्ग पुलिस स्टेशन के पास सफाई अभियान का शुभारंभ किया था।

जन-धन योजना: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने साल 2014 में देश की जनता को बैंकिंग से जोड़ने के लिए जन-धन योजना की घोषणा की थी। इस योजना के तहत 31.31 करोड़ लोगों के खाते खोले गए। एक हफ्ते में सबसे अधिक 1,80,96,130 बैंक खाते खोलने का गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड भी बना। दरअसल, आजादी के 67 वर्ष बाद भी देश की बड़ी आबादी बैंकिंग सेवा से दूर थी। उनके पास बचत और संस्थागत कर्ज लेने के लिए कोई जरिया नहीं था। प्रधानमंत्री मोदी ने इसके लिए 28 अगस्त को प्रधानमंत्री जन धन योजना की शुरुआत की थी।

Leave a Reply