बीजेपी के ‘शॉटगन’ को प्रधानमंत्री मोदी कब कहेंगे ‘खामोश’

Election, News

जैसे-जैसे लोकसभा चुनाव का समय नजदीक आ रहा है। वैसे-वैसे बीजेपी के सामने एक नई परेशानी खड़ी हो जा रही है। आज बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह पश्चिम बंगाल में चुनावी रैली को संबोधित करने वाले थे लेकिन ममता सरकार की ओर से शाह के हैलीकॉप्टर को लैंडिंग की इजाजत नहीं दी गई। जिस कारण अमित शाह की रैली रद्द हो गई। अब बात करें बीजेपी नेताओं की तो पार्टी के कुछ नेता अपनी ही पार्टी बगावत करने पर उतारू हो गए हैं। जी, हां हम बात कर रहे हैं बिहार की पटनासाहिब सीट से सांसद शुत्रघ्न सिन्हा की। सिन्हा आज कल अपनी ही पार्टी से काफी नाराज़ चल रहे हैं और ये बात खुलकर तब सामने आई जब शत्रुघ्न पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की रैली में शामिल हुए।

बता दें कि हाल ही में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एक चुनावी रैली का आयोजन किया था। जिसमें 22 पार्टियों को रैली में शामिल होने का न्योता दिया गया था। रैली में बीजेपी के भी कुछ नेता भी शामिल हुए थे। जिनमें से एक शत्रुघ्न सिन्हा भी थे। शत्रुघ्न रैली में शामिल ही नहीं हुए बल्कि बिहारी बाबू ने रैली को संबोधित भी किया और अपनी ही पार्टी पर जमकर निशाना भी साधा और खुद को बागी तक कह डाला। शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि अगर सच कहना बागावत है तो हां मैं बागी हूं। हमारा मकसद परिवर्तन करना है। वहीं, इतने पर ही शत्रुघ्न सिन्हा का मन नहीं भरा और उन्होंने एक विवादित टिप्पणी भी कर दी उन्होंने रैली में कहा था कि ”चौकीदार चोर” है।  जिसके बाद सियासी गलियारों में हड़कंप मच गया था।

शत्रुघ्न ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का जिक्र करते हुए कहा, ‘अटल जी के समय में लोकशाही थी और अब तानाशाही है।’ सिन्हा ने नोटबंदी पर बोलते हुए कहा कि ये देश के लोगों से साथ ज्यादती है। रातों-रात तुगलकी फरमान जारी करते हुए नोटबंदी की घोषणा कर दी गई। साथ ही शत्रुघ्न ने विपक्ष की जमकर तारीफ की। शत्रुघ्न ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को कामयाब नेता कहा और कहा कि हमारे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अध्यक्ष बनने के एक साल के अंदर तीन राज्यों में चमत्कार कर सफलता हासिल की।

बता दें कि शत्रुघ्न सिन्हा अपनी पार्टी पर निशाना साधने को लेकर चर्चाओं में तो हैं ही लेकिन इन सब के बाद भी शत्रुघ्न सिन्हा पर पार्टी की ओर से कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। आखिर क्यों बीजेपी अपने इस नेता के खिलाफ कार्रवाई करने से चूक रही है। आखिर शत्रुघ्न सिन्हा को बीजेपी कब कहेगी खामोश।

Leave a Reply