तेरहवीं में गए लोगों की हो गई तेरहवीं की तैयारी

News

यूपी के कई जिलों में जहरीली शराब से मरने वालों की संख्या में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है। बता दें कि जहरीली शराब पीने से अब तक करीब 82 लोगों की मौत हो चुकी है। प्रशासन की ओर से कार्रवाई शुरू कर दी गई है। मामले को लेकर विपक्ष लगातार प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ पर निशाना साध रहा है।

मामले को लेकर कांग्रेस के प्रवक्ता अखिलेश प्रताप सिंह का कहना है कि उत्तर प्रदेश में क्रिमिनल फ्रेंडली सरकार है। योगी राज में अपराधी मस्त है जनता त्रस्त। राज्य सरकार कान में तेल डालकर सो रही है। बता दें कि जहरीली शराब से सबसे ज्यादा मौत सहारनपुर में हुई है जहां अब तक 36 लोगों की मौत हो चुकी हैं। इसके अलावा मेरठ में 18, रूड़की में 20 और कुशीनगर में 8 लोगों की मौत हो चुकी हैं और मौतों का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है।

बता दें कि राज्य सरकार की ओर से अभी तक मामले को लेकर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी गई है। हालांकि, सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर राज्य पुलिस ने अवैध रूप से शराब निर्माण और बिक्री के खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी है। बस्ती में अवैध शराब के 1600 बॉक्स को जब्त किया गया है। मामले को लेकर राज्य सरकार ने कुशीनगर के डिस्ट्रिक्ट एक्साइज ऑफिसर और डिस्ट्रिक्ट एक्साइज इंस्पेक्टर समेत कई अन्य लोगों को निलंबित कर दिया है।

आपको बता दे कि जानकारी के मुताबिक हरिद्वार के बल्लूपुर गांव में लोग एक मृत व्यक्ति की तेरहवीं में शामिल होने गए थे। इसी दौरान उन्होंने शराब पी थी। जिसकी वजह से करीब दो दर्जन लोग बीमार पड़ गए और 16 लोगों की मौत हो गई है, जबकि कई लोग अस्पताल में भर्ती हैं। अस्पताल में भर्ती मरीजों की स्थिति भी नाजुक बताई जा रही है। उत्तराखंड के एक पुलिस अधिकारी ने घटना की पुष्टि की है।

Leave a Reply