Press "Enter" to skip to content

जानिये 38वें स्थापना दिवस के मौके पर बीजेपी पार्टी किसको परखना चाहती हैं..

आज 6 अप्रैल है और आज के ही दिन राजनीति की दुनिया में भारतीय जनता पार्टी की स्थापना की गई थी। बीजेपी सरकार आज अपने स्थापना दिवस का जश्न जोरो-शोरों से मना रही है लेकिन इसके साथ ही इस आयोजन के जरिये बीजेपी पार्टी चुनाव के लिए बूथ स्तर तक संगठन की जड़ों को परखने की भी कोशिश में है। हम आपको बता दें कि स्थापना दिवस के बाद तैयारियों की ‘क्रॉस चेकिंग’ की यही प्रक्रिया 14 अप्रैल को होने वाले समरसता में अपनाई जाएगी। लेकिन यहां पर ये भी है कि इस समय भारतीय जनता पार्टी का ध्यान पूरा अगले साल होने वाले लोकसभा चुनावों की ओर केंद्रित है।

आज भारतीय जनता पार्टी को भारतीय राजनीति में पूरे 38 साल हो गए हैं। इन 38 सालों में भारतीय जनता पार्टी ने कई उतार चढ़ाव देखें हैं। आज शुक्रवार को ये पार्टी जोरो शोरों से 38 साल पूरे होने का उत्सव मना रही है। 2019 में लोकसभा चुनाव होने वाले है, इसलिए इस आयोजन को भी पूरी गंभीरता और जागरूकता से बूथ मैनेजमेंट नीति के साथ मनाया जा रहा है। संगठन की गतिविधियों पर नजर रखने व जागरूकता बनाये रखने के लिए प्रवासी तैनात किये जा चुके हैं।

हम आपको बता दें कि एक-एक बूथ कार्यक्रम सयोजक और वक्ता की सूची बनाकर पार्टी कार्यालय में जमा करा दी गयी है। हर बात की रिपोर्ट भी दी जाएगी कि सभी बूथों पर स्थापना दिवस कैसे मना और आम जनता के कितने लोग शामिल हुए। खास बात यह है कि भारतीय जनता पार्टी सरकार की योजनाओं का जिक्र भी जनता के बीच करने जा रही है। क्योंकि स्थापना दिवस का जश्न बड़े स्तर पर हो रहा है तो इनकी तैयारियों के लिए गुरुवार को उत्तर और दक्षिण जिला कार्यालय में जिलाध्यक्ष सुरेंद्र मैथानी और अनीता गुप्ता ने बैठक भी की। वहीं नवीन मार्किट कार्यालय में आयोजन प्रभारी पूनम कपूर ने समीक्षा भी की। 14 अप्रैल को भारतीय जनता पार्टी डॉ. भीमराव आंबेडकर जयंती को भी समरसता दिवस के रूप में हर बूथ पर मनाएगी जिसके जरिये पार्टी संगठन की सक्रियता को परखेगी।

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.