राहुल जी, भाषण देने से पहले जरा एक बार रिसर्च कर लिया करें, नहीं तो ऐसे ही मजाक के पात्र बनते रहेंगे…

गर्मी के दिनों में अक्सर लोग खुद को स्वस्थ रखने के लिए शिकंजी पीते हैं। ताकी लू से बचा जा सके। राहुल गांधी ने लोगों को आश्वस्त करने की कोशिश की कि जिस दुकान से हम शिकंजी पीते हैं उसका कोका-कोला के साथ कोई संबंध हो सकता है। लेकिन आपके लिए ये जानना बहुत ज्यादा जरूरी है कि अमेरिका में सड़क के किनारे स्टॉल पर स्टील की गिलास में कोका-कोला नहीं बनाई जाती थी।

दिल्ली तालकटोरा स्टेडियम में ओबीसी सम्मेलन को संबोधित करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि कोल्ड ड्रिंक ब्रांड कोका कोला के फाउंडर शिकंजी बेचा करते थे। कैसे? राहुल ने बताया- “वो पानी में चीनी मिलाकर बेचते थे”

खैर ये तो बात रही जो राहुल गांधी ने कही थी लेकिन गूगल ने हमें कुछ और ही बताया है। गूगल के मुताबिक कोका-कोला का आविष्कारक एक फार्मासिस्ट था। जॉन स्टिथ पेम्बर्टन अटलांटा में फार्मासिस्ट थे और जिन्होंने हमारे पसंदीदा सोडा के शुरुआती संस्करण का आविष्कार किया था। कोका और कोका वाइन के साथ प्रयोग करते समय उन्होंने एक नुस्खा बनाया जिसमें कोला नट और दमियाना के अर्क शामिल किए गए थे, जिसे उन्होंने पेम्बर्टन के फ्रेंच वाइन को कोका नाम दिया था।

उन्होंने इस सिरप का एक ऐसा स्वरूप बनाया जिसमें एल्कोहल नहीं होता था। वो इसे अपने पड़ोस के फार्मेसी में ले गए जहां उसे कार्बोनेटेड पानी के साथ मिलाया गया था। इसके बाद इसकी टेस्टिंग हुई और फिर इसे स्वीकृति मिली थी। कार्बोनेटेड सिरप और पानी का मिश्रण 5 सेंट पर बेचा गया था और इसे “स्वादिष्ट और ताजा” बता कर बेचा गया था। डॉ. पेम्बर्टन के साथी और बुककीपर, फ्रैंक एम. रॉबिन्सन को इसे “कोका कोला” नाम देने का श्रेय मिला था। साथ ही साथ आज भी अलग-अलग स्क्रिप्ट तैयार करने का श्रेय दिया जाता है।

कोका-कोला के लिए पहला विज्ञापन अटलांटा जर्नल में दिखाई दिया था। नागरिकों को इस नए लोकप्रिय सोडा पेय को आजमाने के लिए आमंत्रित किया गया था। अपने पहले साल में कोका-कोला के प्रतिदिन की औसत बिक्री 9 ड्रिंक थी। आज कोका कोला का ग्लोबल मार्केट पेय पदार्थों में 1.9 बिलियन के आस-पास अनुमानित है। हालांकि, कोका कोला की सफलता से पहले पेम्बर्टन की मृत्यु हो गई थी। उसने अपनी मृत्यु से पहले अपने शेयर बेचे थे और तब से कोका-कोला ब्रांड के रूप में विकसित हुआ था।

  • Show Comments (0)

Your email address will not be published. Required fields are marked *

comment *

  • name *

  • email *

  • website *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

You May Also Like

राज्यसभा चुनाव में राजा भैया के इस दांव से बिगड़ सकता है माया-अखिलेश का खेल

यूपी की दस राज्यसभा सीटों पर मतदान जारी है। ऐसे में यूपी का सियासी ...

‘फेसबुक डेटा लीक’ होने पर कहानियां बना रही कांग्रेस का हुआ सबूतों के साथ पर्दाफाश

इन दिनों देशभर में कैंब्रिज अनालिटिका और कांग्रेस कनेक्शन की खबरें काफी जोर पकड़ ...

2019 में बीजेपी को जीत का ब्रह्मास्त्र दे गए प्रणब दा…

कांग्रेस के दिग्गज नेता और पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ कार्यालय ...

अब कभी भी आ सकता है पीएम मोदी का कॉल, पूछेंगे ये सवाल

पीएम मोदी के काम को देखते हुए कई लोग उनको बहुत ज्यादा मानते है ...