Press "Enter" to skip to content

पत्रकार ने ही गोरखपुर में मरे बच्चों को मजहब के आधार पर बांटा

Spread the love

पत्रकार शेखर गुप्ता ने गोरखपुर अस्पताल में हुई बच्चों की मौत पर एक विवादित ट्वीट कर दिया है। जिसके बाद वह लोगों के निशाने पर आ गए है। एक्टर और बीजेपी से सांसद परेश रावल ने भी उनको ट्वीट किया। शेखर गुप्ता ने लिखा था कि क्या किसी को पता है कि गोरखपुर में मारे गए बच्चों में से कितने शमशान और कितने कब्रिस्तान में जाएंगे? इसपर परेश रावल ने लिखा कि आखिर शेखर गुप्ता ने अपने खून की रिपोर्ट और कैरेक्टर सर्टिफिकेट दिखा ही दिया।

 

शेखर गुप्ता के ट्वीट पर और भी काफी ट्वीट आए थे। एक ने लिखा शेखर सर, मासूम बच्चों की दर्दनाक मौत और लाशों को भी आप मजहब में बांट देंगे,सोचा भी नहीं था, साहब, वो सारे बच्चे हमारे थे, हिंदुस्तान के थे। कई लोगों को तो यकीन ही नहीं हुआ कि वह ट्वीट शेखर गुप्ता ने ही किया है।

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में मौजूद बीआरडी अस्पताल में पिछले दिनों 60 से ज्यादा बच्चों की जान चली गई थी। इसमें से ज्यादातर बच्चों की जान जाने का कारण ऑक्सीजन की कमी बताया गया था। इसके बाद योगी सरकार को निशाने पर लिया गया। लेकिन सरकार ने कहा कि बच्चों के मरने की वजह ऑक्सीजन की कमी नहीं है। सरकार की तरफ से बयान दिया गया था कि अगस्त में तो बच्चे मरते ही हैं। इसपर काफी विवाद भी हुआ था।

 

बाद में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि मामले की जांच चल रही है। उन्होंने यह भी कहा था कि जो लोग दोषी होंगे उनको ऐसी सजा दी जाएगी जिसके बारे में किसी ने सोचा भी नहीं होगा।

More from RegionalMore posts in Regional »

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.