Press "Enter" to skip to content

इफ्तार में भी नहीं आए राहुल गांधी के अच्छे दिन, नहीं पहुंचे विपक्षी दलों के ये दिग्गज नेता

Spread the love

कांग्रेस की कमान संभालने के बाद पहली बार राहुल गांधी ने इफ्तार पार्टी दी है। लेकिन इस दौरान विपक्षी दलों की तरफ से राहुल गांधी को ऐसा जोरदार तमाचा मारा गया है जिससे कि उनका प्रधानमंत्री बनने का जो सपना था वो पूरी तरह से टूट गया है। कांग्रेस अध्यक्ष की इस इफ्तार पार्टी में तमाम विपक्षी दलों के नेताओं को आमंत्रित किया गया था। ऐसी उम्मीद भी की जा रही थी कि राहुल गांधी की इफ्तार पार्टी में विपक्षी दलों के नेता बढ़-चढ़कर हिस्सा लेंगे। लेकिन इसमें कई दिग्गज नहीं पहुंचे है और इन नेताओं में खासकर थर्ड फ्रंट बनाने की अगुवाई करने वाले नेताओं की गैर मौजूदगी एक बहुत बड़ी चर्चा का विषय बन गई है।

दिलचस्प बात तो ये रही कि इसमें कई ऐसे नेता भी नहीं पहुंचे है, जो साल 2015 में सोनिया गांधी की इफ्तार पार्टी में शामिल हुए थे। इसमें नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता और जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला और एनसीपी प्रमुख शरद पवार शामिल हैं। इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष रहने के दौरान सोनिया गांधी ने साल 2015 में इफ्तार पार्टी का आयोजन किया था।

इसके अलावा राहुल गांधी की इफ्तार में शिरकत नहीं करने वाले नेताओं में समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश, आरएलडी के अजीत सिंह, बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव, तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और बसपा अध्यक्ष मायावती शामिल हैं।

ऐसा बताया जा रहा है कि आरजेडी के नेता तेजस्वी यादव इसलिए राहुल गांधी की इफ्तार पार्टी में शामिल नहीं हुए है, क्योंकि पटना में उन्होंने भी इफ्तार पार्टी का आयोजन किया था। वहीं, मायावती ने बसपा की तरफ से राज्यसभा सांसद सतीश मिश्रा को भेजा है, जबकि समाजवादी पार्टी की तरफ से कोई प्रतिनिधि तक शामिल नहीं हुआ है।

इसके अलावा यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी खुद राहुल गांधी की इफ्तार पार्टी में अनुपस्थित रहीं है। ऐसा बताया जा रहा है कि वो फिलहाल विदेश में हैं, जिसके चलते वो हिस्सा लेने के लिए नहीं पहुंच पाईं है। राहुल गांधी ने इफ्तार पार्टी में 17 विपक्षी दलों के नेताओं को आमंत्रित किया गया था, लेकिन कई दलों के दिग्गजों के नहीं पहुंचने से सवाल उठने लग रहे हैं कि राहुल की इफ्तार पार्टी हिट रही या फ्लॉप रही है? इफ्तार के बाद राहुल गांधी ने ट्वीट किया कि अच्छा खाना, दोस्ताना चेहरे और शानदार संवाद ने इसे यादगार इफ्तार बना दिया है। दो पूर्व राष्ट्रपति प्रणब दा और प्रतिभा पाटिल और कई दलों के नेता, मीडिया, राजनयिक और कई पुराने एवं नए दोस्त शामिल हुए।

More from National PoliticsMore posts in National Politics »

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.