जम्मू-कश्मीर में गिरी PDP-BJP सरकार, अब क्या है महबूबा के पास विकल्प…

जम्मू-कश्मीर में बीजेपी और पीडीपी के साथ चल रही गठबंधन सरकार से बीजेपी ने किनारा कर लिया है। बीजेपी की तरफ से समर्थन वापस लेने का ऐलान कर दिया गया है। बीजेपी के वरिष्ठ नेता राम माधव ने मंगलवार को कहा है कि केंद्र सरकार की तरफ से पूरी मदद दी गई है लेकिन महबूबा सरकार हालात को सुधारने में पूरी तरह से नाकाम रही है। कश्मीर घाटी में हालात तेजी से खराब हो रहे हैं और अब राष्ट्रीय सुरक्षा और एकता को दिमाग में रखते हुए बीजेपी ने गठबंधन सरकार से अलग होने का फैसला किया है। आइए समझते हैं कि महबूबा सरकार के लिए आगे क्या विकल्प हैं।

आपको बता दें कि बीजेपी ने राज्य में राज्यपाल शासन लगाने की सिफारिश कर दी है। ऐसे में जम्मू-कश्मीर में महबूबा मुफ्ती की सरकार के लिए संकट खड़ा हो गया है। पिछले विधानसभा चुनाव के नतीजों पर अगर नजर डालें तो जम्मू-कश्मीर में कुल 87 सीटें हैं और इनमें से 28 सीटों पर पीडीपी को, बीजेपी को 25 पर, 15 पर नैशनल कॉन्फ्रेंस और कांग्रेस को 12 सीटों पर जीत मिली थी। इसके अलावा बाकी दलों के खाते में 7 सीटें गई थी।

पहला समीकरण

चुनाव में फिलहाल 3 साल का वक्त बाकी है और ऐसे में गठबंधन सरकार को बनाने की फिर से कोशिश की जा सकती है तो पीडीपी को कांग्रेस के अलावा अन्य दलों की भी जरूरत होगी, जिससे बहुमत का आंकड़ा 44 का हासिल किया जा सकेगा। ऐसे में अगर समीकरण बनता है तो पीडीपी की 28, कांग्रेस की 12 और अन्य की 7 सीटें, ये सभी मिलाकर अगर सरकार बनाते हैं तो कुल 47 सीटें हो जाती है जिससे बहुमत पूरा हो जाता है लेकिन इसमें परेशानी की बात कांग्रेस है क्योंकि कांग्रेस की तरफ से पीडीपी को लेकर नकारात्मक रवैया रहा है।

दूसरा समीकरण

अगर कांग्रेस-पीडीपी के बीच में तालमेल नहीं बन पाता तो महबूबा मुफ्ती के पास दूसरा विकल्प नैशनल कॉन्फ्रेंस के साथ हाथ मिलाने का ही बचता है और ऐसे में 44 के आंकड़े के लिए भी अन्य की जरूरत होगी क्योंकि उमर अब्दुल्ला के पास भी 15 विधायक है और वो अगर पीडीपी के 28 विधायकों के साथ जुड़ जाते हैं तब भी बहुमत पूरा नहीं होता है।

तीसरा समीकरण

अगर इन समीकरणों पर किसी तरह की सहमति नहीं बन पाती है तो फिर गवर्नर रूल लागू करना होगा। इसे आगे भी बढ़ाया जा सकता है और इसके बाद चुनाव में जाने का ही एक रास्ता बचता है। राज्य के उपमुख्यमंत्री कविंदर गुप्ता ने ऐलान कर दिया है।

  • Show Comments (0)

Your email address will not be published. Required fields are marked *

comment *

  • name *

  • email *

  • website *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

You May Also Like

बैंक घोटालों पर रघुराम राजन का बड़ा खुलासा, खतरे में आई राहुल-सोनिया की नींद

बैंकों के सामने नॉन परफॉर्मिंग असेट की समस्या पहले ही बहुत थी लेकिन आपको ...

Rss leader dr manmohan Vaidya says reservations should be abolished in india

RSS ने फिर लगाया ‘आरक्षण हटाओ’ का नारा, विपक्षी दलों ने किया हमला

यूपी चुनाव से पहले आरएसएस का बड़ा बयान सामने आया है। आरएसएस के प्रवक्ता ...

93 साल के अटल जी की इन तस्वीरोें में सिमटी 93 कहानियां

अटल बिहारी वाजपेयी 93 साल की उम्र में हमारे बीच से लोगों को अलविदा ...

पीएम मोदी के रिटायर होने के बाद बीजेपी के ये नेता बन सकते है देश के प्रधानमंत्री, चौथा है सबकी पसंद

मौजूदा वक़्त की बात की जाए तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री पद के प्रबल ...

बीजेपी के पक्ष में आया कांग्रेस का सर्वे, सिर पीट रहे हैं राहुल गांधी

देश में सियासी दांव खेलने के लिए हमेशा तैयार रहने वाली राजनीतिक पार्टियां इस ...