मोदी-शाह का यह दाव 2019 में फिर बनाएगा बीजेपी की सत्ता

कर्नाटक चुनाव की तारीख नजदीक हा गई है और साथ ही 2019 में होने वाले चुनाव भी नजदीक आते जा रहे है। बीजेपी अगले साल लोकसभा चुनाव के लिये उन 90 सीटों को जीतने के लिए रणनीति बना रही है जहां पिछले चुनाव में बीजेपी को दूसरा स्थान लेकर ही संतोष करना पड़ा था। इसके लिए कम से कम 18 केंद्रीय मंत्रियों और बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं को पांच सीटों का ‘पालक’ बनाकर अभियान चलाया जाएगा । इसके साथ ही बीजेपी का ध्यान उन 142 सीटों पर भी है जहां से बीजेपी को आज तक कभी जीत हासिल नहीं हुई। ये सीटें पश्चिम बंगाल, ओडिशा, केरल, तमिलनाडु, पूर्वोत्तर, आंध्रप्रदेश जैसे राज्यों में हैं। बीजेपी के एक नेता ने मीडिया से बातचीत के दौरान दावा किया है कि इनमें से कुछ सीटें ऐसी भी हैं जहां पर पिछले चार सालों में बीजेपी की स्थिति पहले से काफी मजबूत होती हुई नजर आई है।

इस रणनीति को काम में लाने के लिए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने काम करना सुरू कर दिया है और इसी महीने से अलग-अलग प्रदेशों में जाकर वहां की 5-5 लोकसभा सींटों के लिए अपने दौरे की शुरुआत कर दी है। अप्रैल के पहले हफ्ते में शाह ने सबसे पहले उड़ीसा का दो दिन का दौरा किया और वहां जाकर 5 लोकसभा सीटों को कवर किया । इन दौरों के तहत अमित शाह ने खास तौर पर पार्टी के वरिष्ठ कार्यकर्ताओं के साथ बैठक करना, बूथ प्रमुखों का सम्मेलन करना और रोड शो की मदद से आम लोगों से सीधे संपर्क बनाया और लोगों का ध्यान अपनी ओर केंद्रित किया।

इसी कड़ी में अमित शाह ने 21 अप्रैल को भी उत्तरप्रदेश का दौरा किया । इस दौरे के दौरान उन्होंने रायबरेली, अमेठी, सुल्तानपुर, प्रतापगढ़ सीटों के वरिष्ठ कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की। साथ ही पार्टी कार्यकर्ताओं के एक सम्मेलन को भी उन्होंने सम्बोधित किया। बताया जा रहा है कि इसके बाद अमित शाह मई के दूसरे हफ्ते में राजस्थान का दौरा करेंगे जहां हाल ही में पार्टी को लोकसभा की दो सीटों पर हुए उपचुनाव में बहुत बुरी हार का सामना करना पड़ा था।

इन 90 सीटों पर अफनी जीत का परचम लहराने के लिए बीजेपी ने अपनी बनाई गई योजना के तहत मंत्रियों और वरिष्ठ नेताओं को पांच पांच सीटों का समूह बनाकर जिम्मेदारी दी है। आपको बता दें कि इन नेताओं में केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद, जे पी नड्डा, धर्मेंद्र प्रधान, प्रकाश जावड़ेकर, मनोज सिन्हा, नरेंद्र सिंह तोमर, पी पी चौधरी, गजेन्द्र सिंह शेखावत आदि के नाम शामिल हैं। खास तौर पर इस योजना के लिए ऐसे मंत्रियों का चयन किया गया है जिनके पास संगठनिक अनुभव भी है।

बीजेपी की इस योजना के तहत वो दो करोड़ मतदाता शामिल हैं जो साल 2000 में पैदा हुए हैं और 2019 में वह पहली बार वोट डालने वाले है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पार्टी सांसदों, विधायकों एवं नेताओं से इन गांवों में दो दो रातें गुजारने को कहा है ।

Tags:

  • Show Comments (0)

Your email address will not be published. Required fields are marked *

comment *

  • name *

  • email *

  • website *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

You May Also Like

Jaitley Files Another Defamation Case Against Kejriwal

केजरीवाल मानहानी केस: जेठमलानी के तीखे सवालों पर फंस गए केजरीवाल, जेटली ने किया 10 करोड़ का मुकदमा

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर एक और मानहानि ...

पाकिस्तान में भारतीय नागरिक और नौसेना के अधिकारी कुलभूषण जाधव को जासूसी के आरोप में फांसी की सजा दिए जाने का मुद्दा मंलगवार को देश की संसद में भी गूंजने लगा है। कांग्रेस ने इसे लेकर लोकसभा में स्थगन प्रस्ताव का नोटिस दिया है। देशभर में पाकिस्तानी सेना की इस करतूत के खिलाफ गुस्सा भड़क उठा है। सोशल मीडिया पर पाकिस्तान को खरी खोटी सुनाने के साथ ही लोग सड़कों पर भी प्रदर्शन कर रहे हैं। उधर पाकिस्तानी उच्चायुक्त ने इस मामले पर चुप्पी साध ली है। कांग्रेस की ओर से सोमवार को ही बताया गया था कि वह मंगलवार को इस मुद्दे को संसद में उठाएगी। सुबह सदन की कार्यवाही शुरू होने से पहले पार्टी ने लोकसभा में इसे लेकर स्थगन प्रस्ताव दिया है। उम्मीद की जा रही है कि सरकार की ओर से संसद के दोनों सदनों में इसे लेकर बयान दिया जा सकता है। साथ ही माना जा रहा है कि इसके जरिए पाकिस्तान को कड़ा संदेश दिया जाएगा। दूसरी तरफ देश के आम लोगों में पाकिस्तान को लेकर गुस्सा भड़क उठा है। सोमवार शाम से ही सोशल मीडिया से लेकर सड़क तक यह गुस्सा देखने को मिल रहा है। ट्विटर पर कुलभूषण का नाम टॉप ट्रेंड्स में शामिल है, तो वहीं फेसबुक पर भी लोग इसे लेकर लगातार पोस्ट डाल रहे हैं। उधर नागपुर में लोग पाकिस्तान के इस कदम का विरोध करते हुए सड़कों पर आ गए है। उन्होंने पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाए और उसका पुतला भी फूंका। कुछ लोग जाधव की तस्वीर भी हाथ में लिए हुए थे। इस बीच खुद पाकिस्तान के अधिकारी भी इस मुद्दे पर कुछ बोलने को तैयार नहीं है। भारत में पाकिस्तान के राजदूत अब्दुल बासित से मीडिया ने जब इस संबंध में बात करनी चाही तो वह सवालों से बचते हुए बिना कुछ कहे ही निकल गए। उन्होंने अपनी कार तक नहीं रोकी।

सड़क से लेकर संसद तक गूंज रहा है जाधव जाधव…

पाकिस्तान में भारतीय नागरिक और नौसेना के अधिकारी कुलभूषण जाधव को जासूसी के आरोप ...

modi-bjp-come-back-ion-2019-here-is-the-reason

2019 में मोदी फिर बनेंगे PM, अमित शाह के साथ मिलकर विपक्षी दलों को परास्त करने का रचा ‘चक्रव्यूह’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उत्तर प्रदेश उपचुनाव में मिली करारी हार को भूल नहीं पा ...

Ramnath Will be The First President From UP - Wikileask4india News Report

राष्ट्रपति चुनाव: रामनाथ बनेंगे यूपी से पहले राष्ट्रपति, राज्य दे चुका है देश को 9 प्रधानमंत्री

बीजेपी के द्वारा रामनाथ कोविंद को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाए जाने के बाद ...

इस दिग्गज नेता की तबीयत बिगड़ने से गई 21 लोगों की जान…

तमिलनाडु की सियासत में बड़ी पारी खेलने वाले डीएमके प्रमुख करुणानिधि के बीमार होने ...