B’DAY SPL: राहुल गांधी के बारे में ये बातें आपको जरूर जाननी चाहिए…

19 जून को राहुल गांधी 48 साल के हो गए हैं। आमतौर पर राहुल गांधी अपना जन्‍मदिन बहुत ही निजी रूप से सिर्फ अपने दोस्तों के बीच में ही मनाते हैं। लेकिन इस बार ऐसा पहली बार हो रहा है कि वो दिल्ली में कांग्रेस पार्टी के हेडक्‍वार्टर में कार्यकर्ताओं के बीच अपने जन्‍मदिन को मनाने जा रहे है। इस सिलसिले में उनके पूरे दिन पार्टी ऑफिस में समय बिताने के कयास लगाए जा रहे हैं और इसी कड़ी में यूथ कांग्रेस, कांग्रेस की महिला शाखा समेत पार्टी की यूनिटों ने इस अवसर पर कई कार्यक्रम आयोजित करने का फैसला किया है। इस संदर्भ में साल 2019 की चुनावी तैयारियों में व्‍यस्‍त कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी से जुड़े कुछ अनसुने सियासी पहलुओं पर नजर डालते हैं।

एकीडो (Aikido) ब्‍लैक बेल्‍ट
19 जून, 1970 को पैदा हुए राहुल गांधी की खेलों में काफी रुचि है। इसका पता तब चला जब पिछले साल दिल्‍ली के एक कार्यक्रम में बॉक्‍सर विजेंद्र कुमार ने राहुल गांधी से पूछा कि क्‍या आपकी खेलों में रुचि है? इस पर राहुल गांधी ने कहा था कि वो एकीडो (Aikido) में ब्‍लैक बेल्‍ट हैं। अक्‍सर मैदान में कम से कम एक घंटे तक खेलकूद में पसीना भी बहाते हैं। इस पर विजेंद्र सिंह ने कहा था कि आपको उसका वीडियो लोगों से शेयर करना चाहिए ताकि लोग प्रेरित हो सकें। इस पर राहुल गांधी ने जवाब देते हुए कहा कि मैं जरूर ऐसा करूंगा। तब पहली बार लोगों को राहुल गांधी इस खेल के प्रति रुचि के बारे में पता चला था। उसके बाद सोशल मीडिया पर उनके एकोडी पोजीशंस की तस्‍वीरें कांग्रेस और पार्टी की सोशल मीडिया विंग को संभालने वाली दिव्‍या स्‍पंदना ने शेयर की है। आपको बता दें कि एकीडो जापानी मार्शल आर्ट है। राहुल गांधी को बैडमिंटन खेलने में भी दिलचस्‍पी है।

M.Phil की पढ़ाई

राहुल गांधी ने ब्रिटेन की कैंब्रिज यूनिवर्सिटी से डेवलपमेंट स्‍टडीज में एमफिल किया है। उन्‍होंने अमेरिका की हार्वर्ड यूनिवर्सिटी से भी पढ़ाई की है। पढ़ाई खत्‍म करने के बाद वो ब्रिटेन में मैनेजमेंट कंसल्‍टेंट की जॉब कर चुके हैं। साल 2004 में जब पहली बार वो अमेठी से चुनावी मैदान में उतरे तो अपने हलफनामे में पेशे के कॉलम में ‘किसान’ लिखा था। साल 2009 में इसको बदलकर ‘स्‍ट्रैटजिक कंसल्‍टेंट’ लिख दिया था।

मोमोज के शौकीन

राहुल गांधी के करीबियों के मुताबिक उनको स्‍टीम मोमोज खाने का बहुत शौक है। राहुल गांधी को पढ़ने का भी काफी शौक है और दिल्‍ली के खान मार्केट में बरिस्‍ता की कैपिचिनो कॉफी पीते देखा जा सकता है।

जब ‘निर्भया’ की मां को दिया हौसला

दिसंबर 2012 गैंगरेप पीड़िता ‘निर्भया’ की मां आशा देवी ने पिछले साल एक इंटरव्‍यू में कहा था कि राहुल गांधी बहुत प्रेरणादायक व्‍यक्ति हैं। उन्‍होंने कांग्रेस अध्‍यक्ष का आभार प्रकट करते हुए कहा था कि उन्‍होंने मेरे बेटे को जो सलाह दी है, उसी की बदौलत वो पायलट बनने में सफल हो पाया है। आशा देवी ने कहा कि राहुल ने उनके बेटे को कभी हार नहीं मानने की सलाह दी है। आशा देवी ने कहा कि उस त्रासदी ने मेरे बेटे को तोड़ दिया था लेकिन उसके इरादे को नहीं डिगा पाया। अब वो राहुल गांधी की बदौलत पायलट बन गया है।

आशा देवी ने आगे कहा था कि दिसंबर, 2012 की घटना से उनके बेटे को गहरा धक्‍का लगा था लेकिन राहुल गांधी ने उसको पायलट ट्रेनिंग कोर्स को करने के लिए प्रोत्‍साहित किया। साल 2013 में आशा देवी के बेटे ने रायबरेली के इंदिरा गांधी राष्‍ट्रीय उड़ान अकादमी में एडमिशन लिया और जब वो पढ़ाई कर रहा था तो राहुल उससे फोन पर बात कर लेते थे और 18 महीने के उस पायलट ट्रेनिंग कोर्स के दौरान उन्‍होंने उसको मजबूत इरादों के साथ आगे बढ़ने और कभी हार नहीं मानने की सलाह दी।

  • Show Comments (0)

Your email address will not be published. Required fields are marked *

comment *

  • name *

  • email *

  • website *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

You May Also Like

कर्नाटक हार कर भी बीजेपी के लिए बढ़ी खुशखबरी

कर्नाटक विधानसभा चुनाव में काफी राजनीतिक घमासान के बाद आखिर चुनाव 2018 के नतीजे ...

Mandi: PM Modi on Surgical Strike

दुनिया में अब इजराइल की नहीं हमारी सेना की चर्चा होती है: पीएम मोदी

प्रधानमंत्री बनने के बाद पहली बार नरेंद्र मोदी आज हिमांचल प्रदेश के मंडी पहुंचे। ...