सरकार बनाने के लिए अमित शाह की रणनीति पर चल रहे हैं राहुल गांधी

आज कर्नाटक के चुनाव नतीजे घोषित हो गए हैं और इन नतीजों से बीजेपी और कांग्रेस दोनों ही सरकार बनाने की कोशिश में लगी हुई है। जहां बीजेपी सबसे बड़े दल के रूप में निकल कर सामने आया है तो वहीं कांग्रेस ने भी बीजेपी के जीत के रथ को रोकने की कोशिश करने की ठान ली है।

कर्नाटक की राजनीति एक बड़े उलटफेर की तरफ बढ़ रही है। और ये उलटफेर बीजेपी के हक में नहीं होगा। बीजेपी की तरफ से जहां सरकार बनाने के लिए पूरी कोशिश की जा रही है लेकिन बहुमत के आंकड़े से वो चूकती हुई नजर आ रही है तो ऐसे में कांग्रेस ने एक बहुत बड़ा दांव चल दिया है। और ये दांव अमित शाह ने ही कभी कांग्रेस के खिलाफ खेला था।

गोवा और मणिपुर में जिस तरह से बीजेपी ने रणनीति बना कर सबसे बड़ी पार्टी न होते हुए भी अपनी सरकार बना ली थी तो वहीं अब कांग्रेस भी ऐसा ही करने जा रही है। कांग्रेस की तरफ से जेडीएस को बाहर से समर्थन देने का प्रस्ताव रख दिया गया है। दरअसल जेडीएस के पास लगभग 41 विधायक है तो वहीं कांग्रेस के पास 71 विधायक है और 2 निर्दलीय विधायक है अगर कांग्रेस का ये गणित जेडीएस मान लेती है तो 114 विधायक हो जाते हैं और जेडीएस को कांग्रेस का समर्थन मिल जाएगा जिससे कुमारस्वामी को मुख्यमंत्री बनाया जा सकता है।

कांग्रेस के इस खेल के पीछे की वजह बीजेपी को रोकना है। लगातार बीजेपी के चलते आ रहे जीत के रथ को रोकने के लिए कांग्रेस इस वक्त किसी भी तरह के दांव चलने के लिए तैयार है। इस तरह की रणनीति अमित शाह ने गोवा और मणिपुर में चली थी जब कांग्रेस के सबसे बड़ी पार्टी होते हुए भी बीजेपी ने सरकार बना ली थी। वही चाल कांग्रेस ने इस बार कर्नाटक में चल दी है।

आपको बता दें कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने इस बात की पुष्टि की है कि उनकी पार्टी के सभी विधायक कुमारस्वामी को बाहर से समर्थन देने के लिए तैयार है। साथ ही आजाद के अनुसार जेडीएस ने उनका प्रस्ताव मान लिया है और 18 मई को शपथ लेंगे। वहीं कांग्रेस के इस कदम के बाद बीजेपी में भूचाल आ गया है।

  • Show Comments (0)

Your email address will not be published. Required fields are marked *

comment *

  • name *

  • email *

  • website *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

You May Also Like

ठन गई! मौत से ठन गई!…….अटल जी की याद में उनकी ख़ूबसूरत कविता

भारत के पूर्व प्रधानमंत्री, भारतीय जनसंघ के संस्थापक, भारतीय जनता पार्टी के संस्थापक सदस्य, ...

Last day of Accepting the Evm Challenge no One Came to Ec Yet

EVM हैकिंग मामला: आवेदन करने का आज अंतिम दिन, अब तक किसी भी पार्टी ने नहीं किया नामांकन

इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों में छेड़छाड़ करके दिखाने की चुनाव आयोग की चुनौती में शामिल ...

अब बीजेपी के आगे नतमस्तक होंगे केजरीवाल, ये है बड़ी वजह

पंजाब से लेकर दिल्ली तक केजरीवाल की माफी की जबरदस्त चर्चा है। एक पेज ...

again-aiadmk-and-nda-will-come-together

विपक्ष को चित करने के लिए बीजेपी का नया मोहरा बनेगी AIADMK!

बिहार में जेडीयू का साथ वापिस पाने क बाद अब एनडीए देश के दक्षिणी हिस्से ...

aam aadmi party revokes amanatullah khan suspension

अमानतुल्ला के बयान पर आप में छिड़ा घमासान!

आम आदमी पार्टी ने कुमार विश्वास को एक तगड़ा झटका दे दिया है। बता ...